पौड़ी, जेएनएन। राजस्व पुलिस ने प्रेमिका को जान से मारने की नीयत से खाई में धकेलने वाले व्यक्ति को उस समय गिरफ्तार कर लिया, जब वह उपचाराधीन प्रेमिका से मिलने अस्पताल पहुंचा। पुलिस ने पौड़ी जिला निवासी आरोपित के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है। उसे बुधवार को कोर्ट में पेश किया जाएगा। 

दरअसल, शनिवार शाम को पौड़ी के समीपवर्ती गांव का एक व्यक्ति प्रेमिका को अदवाणी के जंगल में खाई में फेंककर फरार हो गया था। महिला को 108 कर्मियों ने उपचार के लिए जिला चिकित्सालय में भर्ती कराया था। महिला ने राजस्व पुलिस को पूछताछ के दौरान बताया था कि उसका प्रेमी उसे गांव ले जाने की बात कहकर उसे दिल्ली से यहां लाया था। गांव जाते समय पैदल रास्ते में उसने धक्का देकर खाई में गिरा दिया। 
महिला ने प्रेमी पर पत्थरों से जान से मारने के प्रयास का भी आरोप लगाया था। हालांकि महिला प्रेमी के नाम के अलावा और कुछ भी राजस्व पुलिस को नहीं बता पा रही थी। सोमवार सुबह स्वयं प्रेमी ने महिला को फोन कर गलती स्वीकार कर मंगलवार को जिला चिकित्सालय आने की बात कही थी। मंगलवार को जैसे ही आरोपित अस्पताल पहुंचा तो वहां मौजूद पीआरडी के जवान ने इसकी सूचना राजस्व पुलिस को दी। राजस्व पुलिस ने मौके पर पहुंच कर आरोपित को गिरफ्तार किया। राजस्व निरीक्षक सूरज पाल रावत ने बताया कि उक्त आरोपी की पहचान ब्रिजेंद्र पटवाल निवासी ग्राम थापली पट्टी पटवालस्यू के रूप में हुई। 
महिला की तहरीर पर आरोपी के खिलाफ जान से मारने के प्रयास के आरोप में मुकदमा दर्ज किया गया है। आरोपी को बुधवार को कोर्ट में पेश किया जाएगा। आरोपी दिल्ली के वन और पर्यावरण विभाग में एमटीएस कर्मचारी के तौर पर तैनात था।
राजस्व पुलिस के लिए परेशानी बनी महिला की सुपुर्दगी
महिला की सुपुर्दगी राजस्व पुलिस के लिए परेशानी का सबब बन गई है। जिस व्यक्ति के साथ महिला यहां आई थी। उसे राजस्व पुलिस ने जेल भेज दिया है। जबकि महिला के अन्य किसी परिजन से वर्तमान में कोई संबंध नहीं है। 
ऐसे में महिला किसे सुपुर्द की जाए, यह राजस्व पुलिस के लिए के लिए परेशानी का सबब बन गया है। राजस्व निरीक्षक सूरज पाल सिंह ने बताया कि अभी महिला का उपचार जिला चिकित्सालय में चल रहा है। यदि कोई परिजन नहीं आएगा तो महिला को नारी निकेतन भेज दिया जाएगा।

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप