रुद्रपुर, जेएनएन : अपनी गंदी हरकतों से एक वार्डन ने पंत विवि को बदनाम कर दिया। वह देर रात छात्राओं को  फोन कर द्विअर्थी बातें करता था और अपत्तिजनक मैसेज भेजता था। उसकी यह करतूत लंबे समय से जारी थी। छात्राओं ने कुछ दिनों पहले इसकी शिकायत कुलपति से की थी। मामला मीडिया में उछला तो राज्यपाल बेबी रानी मौर्य ने इसका संज्ञान ले लिया। जिसके बाद कुलपति ने वार्डन को हटा दिया। छात्र अनुशासन समिति ने मामले की जांच निदेशक प्रशासन को जांच सौंप दी है।

एक माह पहले कुछ छात्राएं कुलपति से मिली थीं। छात्रावास के एक वार्डन पर आधी रात में छात्राओं को फोन करने की शिकायत की थी। बताया कि वह रात में फोन कर द्विअर्थी बातें करते हैं। एक छात्रा ने शिकायत की थी कि रात 12 बजे के बाद कॉल कर पहले जन्मदिन की बधाई दी। बाद में कहा कि पत्नी घर पर नहीं है, खाना कौन बनाएगा, तुम आ जाओ। इधर, यह मामला राज्यपाल के संज्ञान तक पहुंचा तो कुलपति ने वार्डन को पद मुक्त करने के आदेश दे दिए। छात्र अनुशासन समिति के अध्यक्ष डॉ. सलिल तिवारी ने बताया कि मामला एक माह पुराना है। छात्राओं ने हॉस्टल के वार्डन के खिलाफ कुलपति से शिकायत की थी। जिसके बाद 21 अक्टूबर को जांच के लिए बुलाई गई विश्वविद्यालय की छात्र अनुशासन समिति की बैठक में छात्रा ने टेक्स्ट मैसेज भी दिखाए थे। बताया कि वार्डन द्वारा छात्राओं के साथ अभद्रता और अन्य शिकायतों का संज्ञान लेते हुए पद से हटा दिया है। इससे पहले भी वार्डन के खिलाफ कई शिकायतें विश्वविद्यालय प्रशासन को मिली थी।

यह भी पढ़ें : क्‍लास में लेट आने पर पूछा तो दसवीं के छात्र ने शिक्षक को जड़ दिया थप्पड़ 

यह भी पढ़ें : तैरना आता तो पुलिस की कस्टडी से फरार तस्कर भाग जाता नेपाल

Posted By: Skand Shukla

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप