हल्द्वानी, जेएनएन : पर्यटन सीजन के दौरान सुगम सफर का दावा करने वाले पुलिस व प्रशासन के इंतजाम पूरी तरह ध्वस्त हो चुके हैं। रविवार शाम नैनीताल समेत अन्य पर्वतीय क्षेत्रों से लौटे पर्यटक तथा अन्य लोग पांच किलोमीटर लंबे जाम में फंस गए। चंद मिनट का सफर तय करने के लिए लोगों को दो से ढाई घंटे इंतजार करना पड़ा। वहीं, यातायात व्यवस्था बनाने के लिए जगह-जगह खड़ी पुलिस भी वाहनों की भीड़ के सामने लाचार दिखी। 

गर्मी में पहाड़ की ठंडी वादियों का आनंद लेने के लिए सैलानियों की भारी भीड़ उमड़ रही है। वहीं, पुलिस इनके वाहनों के आवागमन को सुचारू रखने में पूरी तरह नाकाम साबित है। पिछले कई दिन से लगातार अव्यवस्था फैल रही है। रविवार को पहाड़ जाने वाले सैलानियों के साथ छुट्टियां बिताकर लौट रहे पर्यटकों की संख्या भी काफी अधिक थी। जिस कारण सुबह से नैनीताल रोड पर शीशमहल से ऊपर जाम लगना शुरू हो गया। दिनभर तो स्थिति फिर भी नियंत्रण में थी, मगर शाम होने तक नैनीताल व भीमताल की ओर से भारी संख्या में वाहनों से उतरने पर पांच किमी लंबा जाम लग गया। 
नैनीताल रोड पर शीशमहल से लेकर भुजियाघाट तक तो भीमताल रोड पर चंदादेवी तक वाहनों की लंबी कतार रही। यातायात व्यवस्था बनाने के लिए काठगोदाम, भीमताल व तल्लीताल थाने की पुलिस के साथ ही यातायात सेल व सीपीयू लगी थी, लेकिन भीड़ के आगे सभी असहाय दिखे।

रोडवेज की तीन बसों से नैनीताल भेजे सैलानी 
ट्रेन से आने वाले सैलानियों को नैनीताल तक भेजने के लिए पुलिस की शटल सेवा रविवार को भी जारी रही। बाहर से आने वाली ट्रेनों से काठगोदाम रेलवे स्टेशन से ही यात्रियों को बसों में बैठाकर नैनीताल भेजा गया। काठगोदाम चौकी प्रभारी दान सिंह मेहता ने बताया कि रोडवेज की तीन बसों से यात्रियों को नैनीताल भेजा गया

वाहन के बजाय पैदल जाने में समझी भलाई 
लंबे जाम में फंसे कई यात्री ऐसे थे, जिनका ट्रेन व बसों में रिजर्वेशन था। जाम की वजह से परेशान दर्जनों लोग समय से स्टेशनों तक पहुंचने के लिए वाहन छोड़ सामान लेकर पैदल निकल पड़े। कई किलोमीटर तक पैदल चलने के बाद लोग ऑटो आदि पकड़कर स्टेशनों तक पहुंचे। वहीं भीषण गर्मी में भूखे-प्यासे पैदल सफर से लोग पसीना-पसीना थे। 

शटल सेवा से नैनीताल पहुंचाए पर्यटक
सरोवर नगरी में रविवार को भी पर्यटकों का हुजूम उमड़ पड़ा। पार्किंग समस्या और नगर कीर्तन को देखते हुए पुलिस ने बल्दियाखान-रूसी बाइपास, कालाढूंगी रोड में खुर्पाताल, चारखेत तथा भवाली रोड में मस्जिद तिराहा के पास ही वाहनों को रोक लिया। यहां से शटल वाहनों से पर्यटकों को भेजा गया, लेकिन पार्किंग वाले व बुकिंग वाले पर्यटक वाहनों की वजह से बारापत्थर, नारायणनगर, हल्द्वानी व भवाली रोड पर एक-दो किमी तक लंबा जाम लगा रहा। इस कारण पर्यटकों को परेशानी हुई। इधर, हल्द्वानी रोड के साथ ही लेक टूर में टैक्सियों में पर्यटकों से मनमाना शुल्क वसूला गया। शहर की पार्किंग पर्यटक वाहनों से पटी पड़ी हैं। इसी बीच कुछ होटलों व टैक्सी संचालकों द्वारा मनमाने किराये की शिकायतें आईं, लेकिन पुलिस तक कोई नहीं पहुंचा। उधर, कालाढूंगी रोड पर बारापत्थर में नियमित अंतराल से वाहनों को भेजा गया। नारायण नगर पार्किंग तक जाम लगा रहा। एसओ राहुल राठी ने माना कि रविवार से पिछले दो दिनों की अपेक्षा कम पर्यटक वाहन आए। वन क्षेत्राधिकारी ममता चंद के अनुसार चिडिय़ाघर में वन्यजीवों को देखने चार हजार दो सौ पर्यटक पहुंचे। रोप वे में भी एक हजार से अधिक पर्यटक पहुंचे। हिमालय दर्शन, किलबरी, पंगोठ, लवर्स प्वाइंट, स्नोव्यू, हनुमानगढ़ी में सुबह से शाम तक पर्यटकों की चहल-पहल रही।

यह भी पढ़ें : नैनीताल घूमने आ रहे हैं तो पढ़ लें ये खबर, वरना सुकून की चाहत बन सकती है मुसीबतों का कारण
यह भी पढ़ें : टैटू बनवाना अब केवल शौक ही नहीं रहा दाग छिपाने का बहाना भी बन रहा, जानिए

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस