अल्मोड़ा, जेएनएन : गुजरात से लौटे प्रवासी की संदिग्ध हालात में मौत हो गई। वह राजस्व पुलिस की अभिरक्षा में था और स्वास्थ्य बिगड़ने पर अस्पताल ले जाया गया, जहां उसने दम तोड़ दिया। कमर से नीचे उसे डंडे से बुरी तरह पीटा गया था। नीले निशान देख परिजनों ने किसी अनहोनी की आंशका जताते हुए शव लेने से इंकार कर दिया। इधर एसडीएम ने कहा, प्रवासी की मौत राजस्व पुलिस की अभिरक्षा नहीं बल्कि अस्पताल में मौत हुई। राजस्व पुलिस ने इतना नहीं पीटा कि उसकी मौत हो जाए।

धौलछीना क्षेत्र के ग्राम कुनखेत का रहने वाला सोबन सिंह (38) पुत्र हयात सिंह बीती सात मई को गुजरात से यहां पहुंचा था। सूत्रों के मुताबिक गांव लौटने के बाद से उसकी अपने ही भाइयों से तकरार होने लगी। खुद उसकी पत्नी ने राजस्व चौकी पल्यूं में घरेलू हिंसा व मारपीट की शिकायत दर्ज कराई थी। इस पर राजस्व पुलिस ने सोबन सिंह को बीती शनिवार को हिरासत में ले लिया।

रात में ही खराब हो गई थी तबीयत

रात में उसकी तबीयत बिगड़ गई। सांस लेने में तकलीफ भी हो रही थी। देर रात साढ़े दस बजे के आसपास राजस्व पुलिस ने उसे स्वास्थ्य केंद्र धौलछीना में भर्ती कराया। मध्य रात्रि उपचार के दौरान प्रवासी ने दम तोड़ दिया। इधर सोबन सिंह की मौत का पता लगते ही परिजन भड़क उठे। उन्होंने शव लेने से इंकार कर दिया। परिजनों का कहना था कि सोबन सिंह के शरीर पर चोट के निशान हैं। उन्होंने अनहोनी की आशंका भी जताई। तहसीलदार संजय कुमार व नायब तहसीलदार मनीषा मारकाना मौके पर पहुंचे। एसडीएम सीमा विश्वकर्मा ने कहा कि पोस्टमार्टम के बाद ही मौत के असल कारणों का पता लग सकेगा।

पत्नी ने घरेलू हिंसा की दी थी तहरीर

सीमा विश्वकर्मा, एसडीएम अल्मोड़ा का कहना है कि राजस्व पुलिस की अभिरक्षा में प्रवासी की मौत नहीं हुई। उसने अस्पताल में दम तोड़ा। प्रथम दृष्टया पता लगा है कि मारपीट हुई थी भाइयों में। जब से वह गुजरात से आया था उत्पात मचा रहा था। गांव में सभी से झगड़ा कर रहा था। होम क्वारंटाइन किया था लेकिन मान नहीं रहा था। पत्नी ने पटवारी को मारपीट व घरेलू हिंसा की तहरीर दी थी। भाइयों ने उसे पीटा था, उसने भी भाइयों को मारा था। तहरीर पर राजस्व पुलिस ने उसे हिरासत में ले लिया था। प्रवासी की तबियत भी खराब चल रही थी। चिकित्सीय रिपोर्ट में ऑक्सीजन की कमी के साथ डॉक्टर ने। चोट के निशान बताए हैं।

कमर से नीचे डंडे की चोट के काफी निशान

डॉ. संजीव शुक्ला, चिकित्सा प्रभारी सीएचसी धैलछीना ने बताया कि बीती शनिवार रात 11:09 बजे प्रवासी को लेकर राजस्व उपनिरीक्षक पेटशाल लेकर आए थे। 11:40 में उसकी मौत हो गई। कमर से नीचे डंडे की चोट के काफी निशान थे। नीले निशान पड़े थे। सांस लेने में बहुत दिक्कत हो रही थी इसीलिए हमने 108 सेवा को भी बुला लिया था, लेकिन प्रवासी दम तोड़ चुका था।

फर्जी ई-वे-बिल से 529 करोड़ की जीएसटी चोरी, पिछले साल हुआ था आठ हजार करोड़ की चोरी का खुलासा 

मंडियों में तीन से पांच रुपए किलो प्याज बेचने के लिए मजबूर हुए किसान

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस