Move to Jagran APP

OMG: नैनीताल में सड़क पार कर रहे हाथी से टकराई हरियाणा के पर्यटकों की कार और फि‍र...

Tourist Car Collides with Elephant कार सवार मधुकर खट्टर ने बताया कि पांचों दोस्त नीम करौली बाबा के दर्शन कर लौट रहे थे। तभी मंगलवार देर रात सड़क पार कर रहे हाथी से हरियाणा के पर्यटकों की कार टकरा गई। हादसे में दो लोग घायल हुए हैं। कार टकराने के बाद हाथी के वजन से कार बुरी तरह क्षतिग्रस्त हो गयी।

By badri singh bisht Edited By: Nirmala Bohra Thu, 11 Jul 2024 01:04 PM (IST)
Tourist Car Collides with Elephant: कालाढूंगी में हरियाणा के पर्यटकों की कार हाथी से टकराई कार, दो घायल

कालाढूंगी। Tourist Car Collides with Elephant: नैनीताल जिले के कालाढूंगी- रामनगर मार्ग में नयागांव के पास मंगलवार देर रात सड़क पार कर रहे हाथी से हरियाणा के पर्यटकों की कार टकरा गई। कार में सवार दो लोग घायल हो गए। हादसे में कार भी बुरी तरह क्षतिग्रस्त हो गई है।

कार सवार मधुकर खट्टर ने बताया कि पांचों दोस्त नीम करौली बाबा के दर्शन कर लौट रहे थे। हम सभी दोस्त किराये की कार लेकर नैनीताल घुमने के बाद कैंची मंदिर घूम कर वापस लौट रहे थे। बुधवार को सभी दोस्तों का पेपर था। तभी कालाढूंगी में कार के सामने हाथियों का झुंड आ गया।

नीम करौली बाबा ने हमें बचा लिया

कार टकराने के बाद हाथी के वजन से कार बुरी तरह क्षतिग्रस्त हो गयी। शुक्र है कि हाथियों के झुंड ने कार पर हमला नहीं बोला। मुधकर खट्टर ने बताया कि नीम करौली बाबा ने हमें बचा लिया।

थानाध्यक्ष भगवान महर ने बताया कि कार संख्या एचआर 51 सीसी 5057 नैनीताल से रामनगर की तरफ को जा रही थी कि तभी रात करीब दस बजे नयागांव के पास उनकी कार हाथी से टकरा गई। कार सवार भूमिक बघेल(21) निवासी वार्ड नंबर 11, टिभा कालोनी हरियाणा, दीपक उपाध्याय(22) घायल हो गए।

घायलों को राहगीरों ने अपने वाहन से इलाज के लिए अस्पताल पहुंचाया। कार में कुल पांच लोग सवार थे। कालाढूंगी रेंज कर्मियों ने हाथी के घायल होने की दृष्टि से रात एवं सुबह को हाथी ढूंढने के लिए सर्च अभियान चलाया, लेकिन हाथी नहीं मिल सका।

अमोड़ी में हाथियों का तांडव, आम के बागान उजाड़े

सल्ट । कालागढ़ टाइगर रिजर्व की सीमा से लगी बंद्राण ग्रामसभा के अमोड़ी में हाथियों के झुंड ने खूब उत्पात मचाया। अचानक बेकाबू गजराजों ने बागान में घुस फलों से लदे आम के पेड़ों को तहस-नहस कर डाला। ग्रामीणों के अनुसार हाथियों ने डेढ़ सौ से ज्यादा फलदार पेड़ों को भारी क्षति पहुंचाई। इससे आम उत्पादन से जुड़े किसानों को खासा आर्थिक नुकसान उठाना पड़ा है।

मरचूला क्षेत्र के अमोड़ी गांव में बुधवार को हाथियों का झुंड घुस आया। हाथी डेढ़ सौ से ज्यादा पेड़ जमीन पर गिराते हुए आगे बढ़ गए। आम के व्यवसाय से जुड़े खुशालमणि शर्मा के अनुसार उनके बागान में 55 के आसपास पेड़ थे। हाथियों ने 44 पेड़ तोड़ डाले। इन सभी में फल लदा था।

इसके अलावा सुरेंद्र सिंह रावत, महेशानंद, रमेश सिंह, पान सिंह, ज्ञान सिंह नेगी आदि के बागान में भी पेड़ बर्बाद कर दिए गए। इन सभी बागवानों ने वन विभाग से हाथियों से बचाव को सोलर फेंसिंग किए जाने की गुहार लगाई है। ग्रामीणों के अनुसार हाथियों की लगातार आवाजाही से यहां बसे छह परिवारों के लिए भी खतरा बना हुआ है।

अमोड़ी गांव कालागढ़ टाइगर रिजर्व क्षेत्र से सटा है। इस कारण हाथियों की आवाजाही रहती है। बागवानों को क्षति का मुआवजा दिलाए जाने को रिपोर्ट तैयार कर ली है। आपदा या अन्य मद से सोलर फेंसिंग के लिए कहा गया है।

- गंगाशरण, वन क्षेत्राधिकारी मोहान रेंज