रामनगर, जागरण संवाददाता : कार्बेट नेशनल पार्क (corbett national park) से सटे फाटो जोन (Fato Zone) में लाखों रुपये की लागत से बना उत्तराखंड का पहला ट्री हाऊस (Tree House) आठ माह से शोपीस बना हुआ है। पर्यटकों के लिए पूरी तरह बनकर तैयार हुए ट्री हाऊस की सुविधा अब तक पर्यटकों को नहीं मिल पाई है। जिस वजह से वन विभाग को भी रोजाना राजस्व का नुकसान हो रहा है।

तराई पश्चिमी वन प्रभाग के अंतर्गत दक्षिणी जसपुर के फाटो रेंज में ट्री हाऊस बनाया गया है। एक बड़े पेड़ पर कमरा पूरी तरह लकड़ी से तैयार किया गया है। जिसमेें एक होटल की तरह कमरे में रहने की सुविधा है। कमरे के नीचे से सीमेंट के बीम पर यह कमरा टिका हुआ है। उत्तराखंड का इसे पहला ट्री हाऊस बताया जा रहा है। यहां पर्यटकों को जंगल के बीच में रात में पेड़ पर रहने का अलग ही रोमांच पैदा होगा।

आठ माह पहले ट्री हाऊस अनुमानित 30 लाख रुपये की लागत से बनकर पूरी तरह तैयार भी हो चुका है। पर्यटक भी यहां ठहरने के लिए काफी उत्सुक हैं। लेकिन शासन ने वन विभाग द्वारा भेजे गए प्रस्ताव पर अब तक कोई दिलचस्पी नहीं दिखाई है। यही वजह है कि ट्री हाऊस को शुरू करने के लिए शासन से अब तक अनुमति तक नहीं मिल पाई है। यदि ट्री हाऊस शुरू हो जाता तो वन विभाग को आठ माह में अब तक अच्छा खासा राजस्व मिल जाता।

वन विभाग ने ट्री हाऊस में रात में ठहरने का शुल्क भी निर्धारित कर दिया है। इस शुल्क पर शासन ने अपनी स्वीकृति देनी है। स्वीकृति के बाद उसी आधार पर पर्यटकों से शुल्क लिया जाएगा। ट्री हाऊस का प्रस्ताव शासन को भेजा गया है। प्रकाश आर्य, डीएफओ तराई पश्चिमी वन प्रभाग रामनगर

ट्री हाऊस की बुकिंग आनलाइन करने की योजना

वन विभाग की ट्री हाऊस की बुकिंग आनलाइन करने की योजना है। शुल्क की स्वीकृति और अनुमति मिलने के बाद इसके शुल्क आनलाइन कर देगी। पर्यटक अपनी एडवांस आनलाइन बुकिंग करा सकते हैं। लेकिन फिलहाल यह पर्यटकों के लिए बंद है।

यह भी पढें

स्टेप बाई स्टेप जानिए कैसे करें कॉर्बेट में आनलाइन बुकिंग 

Edited By: Skand Shukla

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट