नैनीताल, जेएनएन : जिला जज एवं विशेष न्यायाधीश भ्रष्टाचार निवारण राजीव खुल्बे की कोर्ट ने एनएच-74 मुआवजा घोटाला मामले में मुख्य आरोपित माने जा रहे ऊधमसिंह नगर के पूर्व विशेष भूमि अध्याप्ति अधिकारी दिनेश प्रताप सिंह पर आरोप तय कर दिए हैं। अब उनके खिलाफ इसी केस के 22 अन्य आरोपितों के साथ ट्रायल चलेगा।

डीपी सिंह ने दाखिल किया था हाजिरमापीफ

करोड़ों रुपये के घोटाले में आरोपित डीपी सिंह समेत 22 अन्य के खिलाफ एसआइटी आरोप पत्र दाखिल कर चुकी है। मगर आरोपितों द्वारा हाजिरीमाफी प्रार्थना पत्र दाखिल करने की वजह से नियत तिथि पर एक साथ आरोप तय नहीं हो सके। पिछले दिनों डीपी सिंह की ओर से हाई कोर्ट में रिट दायर होने की जानकारी देते हुए हाजिरीमाफी का प्रार्थना पत्र दाखिल किया था तो कोर्ट ने एक दिन की हाजिरीमाफी प्रदान करते हुए पेश होने के आदेश पारित किए थे।

अगली सुनवाई पांच दिसंबर को

शनिवार को डीपी सिंह एंटी करप्शन कोर्ट में पेश हुए, जिसके बाद कोर्ट ने आरोप तय कर दिए। डीजीसी फौजदारी सुशील कुमार शर्मा के अनुसार अब डीपी समेत 23 आरोपितों के मामले में अगली सुनवाई पांच दिसंबर को होगी। यहां बता दें कि घोटाले से संबंधित इस मुकदमे में डीपी के साथ ही एडीएम तीरथपाल, एसडीएम भगत सिंह फोनिया, एसडीएम अनिल कुमार शुक्ला के अलावा तहसीलदार, पेशकार, डेटा एंट्री ऑपरेटर, किसान आदि हैं।

यह भी पढ़ें : हाईकोर्ट ने पूछा, जब स्लाटर हाउस बंद हैं तो कैसे हो रहा है मीट का कारोबार

यह भी पढ़ें : किसी के खाते में तीन माह का वेतन एक साथ पहुंचा तो किसी को तीन माह का वेतन ही नहीं मिला

Posted By: Skand Shukla

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस