रुद्रपुर, जेएनएन : 31वीं वाहिनी पीएसी में लाल मिर्च खाने पर लगी रोक के बाद अब सोशल मीडिया पर वायरल 46वीं वाहिनी पीएसी का एक और आदेश चर्चा में है। सोशल माडिया पर वायरल 13 मार्च के इस आदेश में बड़ी मूंछ रखने पर रोक लगाई गई है। हालांकि पीएसी के सेनानायक ने ऐसे किसी भी तरह के आदेश जारी होने से इंकार किया है। सेनानायक द्वारा इस तरह के किसी भी आदेश से इंकार करने के बाद आदेश के फर्जी होने की आशंका बढ़ गई है।
जम्मू कश्मीर में सीआरपीएफ पर हुए हमले के बाद भारतीय वायूसेना ने पाकिस्तान के आतंकी अड्डों पर एयर स्ट्राइक किया था। एयर स्ट्राइक के दूसरे ही दिन पाकिस्तानी विमान को मार गिराने वाले ङ्क्षवग कमांडर अभिनंदन वर्तमान हीरो के रूप में उभर आए थे। पाकिस्तान में गिरफ्तारी के 60 घंटों बाद उन्हें भारत को सौंप दिया। ङ्क्षवग कमांडर अभिनंदन की बहादुरी देख पूरा देश उनका फैन हो गया था। साथ ही अभिनंदन की बड़ी मूछों का युवाओं के साथ ही पुलिस, पीएसी कर्मियों में भी क्रेज चल पड़ा था। रुद्रपुर 46वीं वाहिनी पीएसी में आठ कंपनी में करीब 1100 अधिकारी और जवान व कर्मचारी तैनात हैं। सूत्रों के मुताबिक 46वीं वाहिनी पीएसी में तैनात एक कर्मी ने भी अपनी मूछ ङ्क्षवग कमांडर अभिनंदन की तरह रखी थी। जिसे देखकर पीएसी अधिकारियों ने उसे मानक के अनुुरूप ही मूंछ रखने के निर्देश दिए। चर्चा है कि इसके बाद सेनानायक की तरफ से आदेश भी जारी कर दिए गए। जिसमें कहा गया है कि दल-शाखाओं में नियुक्त कर्मचारी बिना अनुमति के ही बड़ी मूंछ रख रहे हैं, जो अनुचित है। दल शाखाओं में नियुक्त अधिकारी और कर्मचारी बड़ी मूछ नहीं रखेंगे। जो भी कर्मचारी मूछ रखेंगे वह निर्धारित मानक के अनुरूप ही रखेंगे।
46वीं वाहिनी पीएसी में बड़ी मूछों पर रोक लगाने के लिए जारी यह आदेश बुधवार को चर्चाओं में रहा। बता दें कि इससे पहले 31वीं वाहिनी पीएसी में भी लाल मिर्च से होने वाली बीमारियों से पीएसी कर्मियों को बचाने के लिए उसके उपयोग पर रोक लगा दी गई थी।

सेनानायक ने कहा ऐसा कोई आदेश नहीं जारी किया गया है
सुखवीर सिंह, सेनानायक, 46वीं वाहिनी पीएसी ने सफाई देते हुए कहा कि पीएसी एक अनुशासित फोर्स है। बड़ी मूछों पर रोक लगाने संबंधी कोई आदेश जारी नहीं किए गए हैं। 

यह भी पढ़ें : नैनीताल सीट से सांसद भगत सिंह कोश्यारी ने पांच साल में पूछे महज दस सवाल
यह भी पढ़ें : मुस्लिम जोड़े के साथ चौकी में बुरे बर्ताव और मारपीट करने पर हाई कोर्ट सख्त

Posted By: Skand Shukla

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप