रुड़की, जेएनएन। देहात क्षेत्र में नगर पंचायत चुनाव के दौरान आचार संहिता का खूब उल्लंघन हुआ। कहीं प्रत्याशी और इनके समर्थक पोलिंग बूथ के अंदर तक चले गए तो कहीं वाहन ही पोलिंग बूथ तक आए। लोग पोलिंग बूथ के बाहर ही जमघट लगाकर खड़े रहे। कहीं एसएसपी ने तो कही पर डीएम ने पुलिस को फटकार लगाकर मतदान केंद्र के बाहर लगे जमघट को वहां से हटवाया।

नगर पालिका और नगर पंचायत चुनाव को लेकर प्रत्यशियों ने अपने हक में मतदान कराने के लिए ऐड़ी चोटी का जोर लगाया। यहां तक कि आचार संहिता का उल्लंघन करने से भी कुछ प्रत्याशी और इनके समर्थक पीछे नहीं रहे। चुनाव संपन्न कराने के अलावा आचार संहिता का पालन कराने के लिए जिलाधिकारी दीपक रावत और एसएसपी रिधिम अग्रवाल ने रविवार को मंगलौर, भगवानपुर, लंढौरा, कलियर, झबरेड़ा कस्बे में कई पोलिंग बूथों का निरीक्षण कर व्यवस्थाओं का जायजा लिया। 

भगवानपुर में एक पोलिंग बूथ के बाहर जमा भीड़ को देख डीएम का पारा चढ़ गया। डीएम ने पुलिस को फटकार लगाई। जिसके बाद पुलिस ने जमा भीड़ को वहां से हटवाया। इसके अलावा मंगलौर, लंढौरा, झबरेड़ा, तथा कलियर में भी कई पोलिंग बूथों पर यह नजारा आम रहा। यहां तक की प्रत्याशियों के समर्थक और एजेंट लाइन में लगे लोगों के कानों में वोट देने के लिए कानाफूसी करते रहे।

भगवानपुर के एक बूथ के अंदर दबंग प्रत्याशी के जाने पर दूसरे प्रत्याशी के एजेंट ने विरोध करते हुए इसकी शिकायत की। जिसके बाद एसडीएम डीएस नेगी ने मौके पर जाकर घटना की जानकारी ली। वहीं, कई प्रत्याशियों ने तो आचार संहिता को ठेंगा दिखाते हुए मतदाताओं का मतदान केंद्र तक लाने के लिए ई-रिक्शा, टेंपो और कार तक लगाई थी। हर जगह कुछ ऐसा ही नजारा रहा। इस तरह से हो रहे आचार संहिता के उल्लंघन को लेकर अधिकारी भी अनजान बने रहे।

यह भी पढ़ें: निकाय चुनाव: प्रचार खत्म होते ही गुणा-भाग में जुटे नेताजी

यह भी पढ़ें: निकाय चुनाव: मतदान से दो दिन पहले बदले छह मतदान स्थल