जागरण संवाददाता, हरिद्वार। Haridwar Kumbh Mela 2021 श्रद्धालुओं में राष्ट्रीयता की भावना का संचार करने के लिए हरिद्वार कुंभ में 150 फीट (45 मीटर) ऊंचा राष्ट्रीय ध्वज तिरंगा श्रद्धालुओं के आकर्षण का केंद्र होगा। यह उत्तराखंड का सबसे ऊंचा तिरंगा होगा। कुंभ मेला अधिष्ठान ने इसके लिए स्थान चिह्नित करने की प्रक्रिया शुरू कर दी है। जबकि, टेंडर आदि की प्रक्रिया पूरी की जा चुकी है। राष्ट्रीय ध्वज को लगाने की जिम्मेदारी हरिद्वार-रुड़की विकास प्राधिकरण को सौंपी गई है। 

राष्ट्रीय ध्वज की स्थापना का कार्य देख रहे हरिद्वार-रुड़की विकास प्राधिकरण (एचआरडीए) के सचिव और अपर मेलाधिकारी हरबीर सिंह ने बताया कि राष्ट्रीय ध्वज की स्थापना को हरकी पैड़ी के पास के कुछ स्थानों के बारे में राय दी गयी है। फिलहाल इस पर मंथन चल रहा है। राष्ट्रीय ध्वज की स्थापना में कुल 22.50 लाख रुपये का खर्च आना है। यह प्रदेश का सबसे ऊंचा राष्ट्रीय ध्वज होगा।

उन्होंने बताया कि पहले इसके लिए राज्य अतिथि गृह डाम कोठी स्थित ओम पुल के पास गंगनहर के किनारे तिकोने पार्क की भूमि को मुफीद माना गया था। लेकिन, बाद में कुछ व्यक्तियों ने इसे हरकी पैड़ी क्षेत्र के आसपास लगाने की सलाह दी। स्थान के अंतिम चयन को लेकर दोबारा से रायशुमारी की जा रही है। जल्द ही इस पर अंतिम फैसला कर इसकी स्थापना की कार्यवाही आरंभ कर दी जाएगी। ध्वज की कुल लंबाई 45 फीट और चौड़ाई 30 फीट होगी। इतनी ऊंचाई के कारण तेज हवाओं से राष्ट्रीय ध्वज को कोई नुकसान न पहुंचे, इसके पूरे इंतजाम किए जाएंगे। सुप्रीम कोर्ट और केंद्र सरकार की गाइड लाइन और राष्ट्रीय ध्वज के प्रोटोकाल के अनुसार सूर्यास्त के बाद मेला क्षेत्र में लगने वाला राष्ट्रीय ध्वज एलईडी व फसाड लाइट से रोशन रहेगा।

यह भी पढ़ें-Haridwar Kumbh Mela 2021: कुंभ मेला क्षेत्र में डेढ़ करोड़ से 22 पुलों पर होगी रंगीन रोशनी

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021