मनीष कुमार, हरिद्वार। Haridwar Kumbh Mela 2021 कुंभ मेला क्षेत्र में 10 हजार से अधिक अस्थायी शौचालय बनाए जाएंगे। नोडल एजेंसी नगर निगम की ओर से इस दिशा में कवायद शुरू कर दी गई है। इसके लिए टेंडर की प्रक्रिया चल रही है। शौचालय कहां-कहां होंगे, मैपिंग के लिए कंसल्टेंसी की मदद ली जाएगी। खास बात यह है कि मेला खत्म होने के बाद कार्यदायी संस्था को ही संपूर्ण मेला क्षेत्र की सफाई और समतलीकरण आदि कार्य करना होगा।

महाशिवरात्रि के दिन 11 मार्च को कुंभ का पहला शाही स्नान होगा। लिहाजा मेला अधिष्ठान भी इसी अनुरूप अपनी तैयारियों को अंतिम रूप देने में जुटा है। इस बार संपूर्ण मेला क्षेत्र की राउंड द क्लॉक सफाई को मैन पावर से लेकर शौचालय और कूड़े के उठान और निस्तारण को नगर निगम को नोडल एजेंसी बनाया गया है। बात मेला क्षेत्र में बनने वाले शौचालयों की करें तो संपूर्ण मेला क्षेत्र में 10,027 अस्थायी शौचालय बनाए जाएंगे। इसके अलावा 6674 मूत्रालय और 1600 मोबाइल शौचालय की भी व्यवस्था रहेगी। मेला ड्यूटी को आए कार्मिकों के लिए 1670 स्नानागार की भी व्यवस्था रहेगी। संपूर्ण मेला क्षेत्र में ऋषिकेश तक कहां-कहां अस्थायी शौचालय होंगे, इसकी मैपिंग कराई जाएगी। बकायदा इसके लिए कंसल्टेंसी की मदद ली जाएगी। कुंभ खत्म होने के बाद कार्यदायी संस्था को ही संपूर्ण मेला क्षेत्र की साफ-सफाई करानी होगी। 

विनोद कुमार (सहायक नगर आयुक्त, नगर निगम, हरिद्वार) ने कहा कि कुंभ मेले में श्रद्धालुओं की सुविधा और संपूर्ण मेला क्षेत्र को साफ सुथरा रखने के लिए मेला क्षेत्र में 10,027 अस्थायी शौचालय, 6674 मूत्रालय और 1600 मोबाइल टॉयलेट की व्यवस्था रहेगी। इसके लिए टेंडर की प्रक्रिया चल रही है। 

यह भी पढ़ें-Haridwar Kumbh Mela 2021: मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा, कुंभ की तैयारी समय से पूर्ण की जाएं

 

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021