राज्य ब्यूरो, देहरादून। Haridwar Kumbh Mela 2021 गंगाद्वार हरिद्वार में कुंभ के दिव्य एवं भव्य आयोजन के लिए सरकार ने कमर कसी है। कुंभ मेले से संबंधित स्थायी प्रकृति के सभी कार्य हर हाल में इस माह के आखिर तक पूरे करा लिए जाएंगे। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने शनिवार को कुंभ मेला की समीक्षा करते हुए इस संबंध में अधिकारियों को निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि अवशेष कार्यों को शीघ्रता से पूर्ण कराने के साथ ही गुणवत्ता पर विशेष ध्यान दिया जाए। गुणवत्ता में किसी भी प्रकार की लापरवाही सहन नहीं की जाएगी। उन्होंने कुंभ के मद्देनजर व्यापक जनजागरूकता अभियान चलाने के निर्देश भी दिए।

मुख्यमंत्री आवास में हुई बैठक में मुख्यमंत्री ने कहा कि अस्थायी प्रकृति के अवशेष कार्यों को भी शीघ्र पूर्ण कराया जाए। साथ ही सौंदर्यीकरण के कार्य भी समय से पूरे किए जाएं। उन्होंने कहा कि कुंभ में स्नान पर्वों पर श्रद्धालुओं की संख्या बढ़ेगी। ऐसे में श्रद्धालुओं की सुविधा के मद्देनजर सभी व्यवस्थाएं समय पर पूर्ण की जानी आवश्यक हैं। सभी व्यवस्थाओं के लिए पहले से ही योजना बनाकर रखी जाए। उन्होंने सफाई व्यवस्था पर भी विशेष ध्यान देने और स्वच्छता अभियान में स्वयंसेवी संस्थाओं, सामाजिक संगठनों के साथ ही जनता का सहयोग लेने पर जोर दिया।

मुख्यमंत्री ने कहा कि स्वच्छ, सुंदर और सुरक्षित कुंभ के आयोजन के लिए मेला प्रशासन के साथ सभी विभाग बेहतर समन्वय से काम करना सुनिश्चित करें। उन्होंने कोविड के मानकों का भी पूरी तरह से पालन कराने पर जोर दिया। उन्होंने कहा कि मेला क्षेत्र में मास्क व सेनिटाइजर की उचित व्यवस्था करने के साथ ही कोविड से सतर्कता के लिए मेला व जिला प्रशासन को विभिन्न माध्यमों से जागरूकता अभियान चलाना चाहिए।

देवभूमि के धार्मिक व सांस्कृतिक पक्ष को भी लाएंगे सामने

शहरी विकास मंत्री मदन कौशिक ने बैठक में कहा कि कुंभ मेला श्रद्धालुओं की आस्था का प्रतीक है। कुंभ मेले में राष्ट्रीय एवं प्रदेश के धार्मिक, सांस्कृतिक व आस्था से संबंधित पक्षों को भी उभारा जाएगा। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि कुंभ के दिव्य, भव्य आयोजन में किसी प्रकार की कोताही न बरती जाए।

कुंभ कार्यों को सर्वोच्च प्राथमिकता

शहरी विकास सचिव शैलेश बगौली ने कहा कि कुंभ मेले से जुड़े कार्यों को सर्वोच्च प्राथमिकता दी जा रही है। स्वीकृत प्रस्तावों के सापेक्ष तत्काल निर्णय लेते हुए बजट आवंटित किया जा रहा है। मेलाधिकारी दीपक रावत ने बताया कि स्थायी प्रकृति के अधिकांश कार्य पूर्ण हो चुके हैं और शेष भी जल्द पूर्ण हो जाएंगे। सड़क व पुलों से संबंधित अधिकतर कार्य पूरे किए जा चुके हैं। राष्ट्रीय राजमार्ग के सभी आवश्यक कार्य शीघ्र पूरे किए जाएंगे। बैठक में मुख्य सचिव ओमप्रकाश, डीजीपी अशोक कुमार, सचिव अमित नेगी, नितेश झा, डा.पंकज पांडेय, एसए मुरुगेशन, आइजी मेला संजय गुंज्याल आदि मौजूद थे।

यह भी पढ़ें-Haridwar Kumbh 2021: कुंभ में आने वालों को फ्लाईओवर पर दिखेगी उत्तरांखड संस्कृति की झलक

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप