जागरण संवाददाता, हरिद्वार। भारतीय महिला हाकी टीम की खिलाड़ी वदंना कटारिया के घर के बाहर पटाखे फोड़ने और जातिसूचक शब्द कहने वाले आरोपितों के खिलाफ पुलिस ने मुकदमा दर्ज किया है। पुलिस ने दो आरोपित को गिरफ्तार कर लिया है। इनमें से एक विजयपाल सिंह भी हाकी खिलाड़ी है। वहीं, झबरेड़ा विधायक देशराज कर्णवाल समेत विभिन्न संगठनों के पदाधिकारियों ने वंदना कटारिया के घर में बैठक की। विधायक ने कहा कि खिलाड़ि‍यों को अपमान किसी भी सूरत में बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। उधर, खेल मंत्री अरविंद पांडे ने हरिद्वार के जिलाधिकारी और एसएसपी को वंदना के स्वजन से बदसलूकी करने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई के निर्देश दिए हैं। उन्होंने वंदना कटारिया के भाई से फोन पर बात कर हरसंभव मदद का आश्वासन दिया है।

टोक्यो ओलिंपिक में बुधवार को भारतीय महिला हाकी टीम का अर्जेंटीना से सेमीफाइनल मुकाबला था। बेहतरीन प्रदर्शन के बावजूद भारतीय टीम मैच हार गई। हाकी टीम की खिलाड़ी वंदना कटारिया के परिवार की नजरें सुबह से ही टीवी स्क्रीन पर लगी थी। उन्हें पूरी उम्मीद थी कि भारतीय टीम यह मैच जीतेगी, लेकिन ऐसा नहीं हुआ। इससे परिवार मायूस हो गया। ठीक इसी समय पुरानी रंजिश के चलते पड़ोस में रहने वाले कुछ व्यक्तियों ने वंदना के घर के बाहर पटाखे फोड़े। आरोप है कि उन्होंने खुशी मनाने के अंदाज में अतिशबाजी की। जिसके बाद दोनों पक्षों में कहासुनी हुई। वंदना के भाई चंद्रशेखर ने सिडकुल थाने में तहरीर देकर आरोप लगाया कि सुमित चौहान, अंकुर और विजय पाल निवासीगण रोशनाबाद हरिद्वार ने गाली-गलौज व मारपीट करते हुए धमकी दी और जातिसूचक शब्द भी कहे। बुधवार देर रात पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू की। सिडकुल थानाध्यक्ष लखपत बुटोला के नेतृत्व में पुलिस टीम ने आरोपित विजय पाल और अंकुर पाल निवासी रोशनाबाद को गिरफ्तार कर लिया। दोनों सगे भाई हैं। एसएसपी सेंथिल अवूदई कृष्णराज एस ने बताया कि मुकदमे की जांच एएसपी सदर डा. विशाखा अशोक को सौंपी गई है।

दोनों परिवारों में चली आ रही रंजिश

वंदना कटारिया और विजय पाल के परिवार रोशनाबाद गांव में आसपास रहते हैं। उनके बीच कई सालों से रंजिश चली आ रही है। हालांकि कोई जमीन-जायदाद से जुड़ा विवाद दोनों परिवारों में नहीं है। मामूली छींटाकशी को लेकर दोनों परिवारों में कई बार झगड़ा हो चुका है। वंदना के भाई चंद्रशेखर कटारिया ने पुलिस को बताया कि आरोपित विजयपाल का परिवार उनके परिवार से रंजिश रखता है। इसके चलते उसने महिला हाकी टीम के हारे जाने के बाद उसके घर के सामने पटाखे फोड़ते हुए जातिसूचक शब्दों का इस्तेमाल किया।

परिवार बोला, देशद्रोह की धारा बढ़ाए पुलिस

वंदना कटारिया के भाई चंद्रशेखर का कहना है कि आरोपितों की इस हरकत से अनुसूचित जाति समाज व परिवार की भावनाएं आहत हुई हैं। क्षेत्र व देश में भी आक्रोश है। इसके चलते आरोपितों के खिलाफ मुकदमें में देशद्रोह की धाराएं भी बढ़ाई जानी चाहिए।

आरोपितों ने पहले से की थी तैयारियां

प्रत्यक्षदर्शियों का कहना है कि भारतीय टीम के हारने के कुछ ही देर बाद दूसरा पक्ष वंदना के घर के बाहर पहुंच गया। उन्होंने पटाखे भी फोड़े और चिढ़ाने के लिए डांस भी किया। आतिशबाजी को देखकर यह माना जा रहा है कि आरोपितों ने पहले से ही पूरी तैयारी कर रखी थी। हार के लिए खासतौर पर पटाखे खरीदे गए होंगे। आरोपितों की इस हरकत की हर कोई निंदा कर रहा है।

अर्जेंटीना से 2-1 से मिली थी हार

बता दें आज टोक्यो ओलिंपिक में भारतीय महिला हाकी टीम को सेमीफाइनल में अर्जेंटीना से 2-1 से हार मिली। अब भारतीय महिला हाकी टीम कांस्य पदक के लिए कल ग्रेट ब्रिटेन से भिड़ेगी। सोमवार को भारतीय टीम ने तीन बार की चैंपियन आस्ट्रेलिया को 1-0 से हराया था और पहली बार ओलिंपिक के सेमीफाइनल में प्रवेश किया था।

यह भी पढ़ें- देहरादून के ढकरानी में गोकशी को लेकर बवाल, मौके पर भारी पुलिस बल तैनात; एक गिरफ्तार

Edited By: Raksha Panthri