जागरण संवाददाता, देहरादून। विकासनगर कोतवाली क्षेत्र के ढकरानी गांव में गाय चुराने के चंद घंटे बाद उसकी हत्या को लेकर बवाल हो गया। गोकशी की घटना से गुस्साए सैकड़ों ग्रामीण सड़क पर उतर आए और आरोपितों की गिरफ्तारी की मांग लेकर जमकर हंगामा किया। इस बीच ग्रामीणों को पता चला कि एक आरोपित गन्ने के खेत में छुपा हुआ है। ग्रामीणों ने चारों तरफ से खेत घेरकर उसकी तलाश शुरू कर दी। सूचना पर भारी संख्या में पुलिस बल भी मौके पर पहुंचा।

ग्रामीणों के साथ कांबिंग कर पुलिस ने छुपे आरोपित को दबोच लिया। गुस्साए ग्रामीणों ने आरोपित की जमकर पिटाई कर दी। पुलिस ने मुश्किल से स्थिति पर काबू पाया और आरोपित को वहां से निकालकर कोतवाली ले गई। इस पर आक्रोशित ग्रामीण भी कोतवाली पहुंच गए। ग्रामीणों ने कोतवाली का घेराव कर प्रशासन व पुलिस के विरोध में नारेबाजी की।

पुलिस की पूछताछ में घटना में तीन आरोपितों के फरार होने की बात सामने आई है। पुलिस के मुताबिक, गिरफ्तार आरोपित के खिलाफ देहरादून के सहसपुर थाने में पहले से गोकशी के मुकदमे दर्ज हैं। चारों आरोपितों पर चोरी, गोवंश संरक्षण अधिनियम व कई आपराधिक धाराओं में मामला दर्ज कर लिया गया है। शेष तीन आरोपितों की तलाश में दबिश जारी है।

पुलिस के मुताबिक, विकासनगर क्षेत्र के ढकरानी गांव में वार्ड-चार में सचिन कश्यप की दुधारू गाय बुधवार की सुबह किसी ने घर के बाहर से चोरी कर ली। सूचना मिली तो ग्रामीणों ने गाय को तलाशना शुरू किया तो गाय पास ही नदी किनारे कटी हालत में मिली। गोकशी की सूचना क्षेत्र में आग की तरह फैल गई और ग्रामीण भड़क गए। तभी किसी ने बताया कि गोकशी के बाद भाग रहे एक व्यक्ति को उसने नजदीक ही गन्ने के खेत में जाते हुए देखा है।

गुस्साई भीड़ ने खेत को चारों ओर से घेर लिया। देखते-ही-देखते भीड़ बढ़ती गई व बवाल होने लगा। सूचना पर एसपी ग्रामीण स्वत्रंत कुमार भारी पुलिस फोर्स के साथ वहां पहुंच गए और स्थिति काबू करने की कोशिश की। ग्रामीणों का आक्रोश देख सहसपुर, कालसी व सेलाकुई थाने से भी पुलिस फोर्स बुला ली गई। इस दौरान पुलिस ने ग्रामीणों समेत कांबिंग करते हुए खेत में छुपे हुए एक आरोपित को पांच घंटे की मशक्कत के बाद दबोच लिया।

पुलिस की पूछताछ में उसने अपना नाम सलमान निवासी सहसपुर, देहरादून बताया। गुस्साए ग्रामीणों को जब आरोपित के मुस्लिम होने का पता चला तो उन्होंने पुलिस के सामने ही उसकी जमकर पिटाई कर डाली। भीड़ को नियंत्रित कर किसी तरह पुलिस ने उसे बचाया और विकासनगर कोतवाली ले गई। ग्रामीणों का आक्रोश कोतवाली के बाहर भी नहीं थमा। वह आरोपित को भीड़ को सौंपने की मांग करते रहे। पुलिस अधिकारियों ने मुकदमा दर्ज करने की जानकारी दी तो ग्रामीण शांत हुए। पुलिस ने फरार तीन आरोपितों के नाम भूरा निवासी ग्राम गंदेवड़, सहारनपुर (उत्तर प्रदेश), फुरकान और मुशर्रफ उर्फ काला निवासी खुशहालपुर, देहरादून बताए।

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक योगेंद्र सिंह रावत का कहना है कि घटना बेहद गंभीर है। पुलिस ने स्थिति नियंत्रित कर ली है। एक आरोपित गिरफ्तार कर लिया गया है, जबकि फरार तीन की तलाश में टीमें दबिश दे रही हैं। क्षेत्र में शांति बनी रहे, इसलिए फिलहाल वहां पर पुलिस बल 24 घंटे तैनात रखने के आदेश दिए गए हैं।

यह भी पढ़ें- पिरान कलियर दरगाह के निलंबित प्रबंधक की आलमारी खुली तो कई सच आए सामने, पाकिस्तानी नोटों की चादर समेत मिला ये सामान

Edited By: Raksha Panthri