जागरण संवाददाता, हरिद्वार। Haridwar Kumbh Mela 2021 धर्मध्वजा के लिए छिद्दरवाला के जंगल से निरंजनी अखाड़ा लाई गई लकड़ी 20 फीट छोटी निकली। धर्मध्वजा के लिए लकड़ी की लंबाई कम से कम 100 फीट होनी चाहिए। लकड़ी में अब 20 फीट का जोड़ लगाकर इसे 100 फीट का किया जाएगा, जबकि प्रयागराज से 52 फीट की धर्मध्वजा (भगवा रंग का विशेष कपड़ा) अखाड़े में लाई जाएगी। इसके बाद पूरे विधि-विधान से पूजा-अर्चना कर तकरीबन सौ फीट लंबी लकड़ी में धर्मध्वजा की स्थापना की जाएगी।

निरंजनी अखाड़ा की धर्मध्वजा की स्थापना 27 फरवरी को होनी है। शनिवार को धर्मध्वजा स्थापित करने के लिए हरिद्वार कुंभ मेला प्रशासन की ओर भेजी गयी लकड़ी को निरंजनी अखाड़े के सचिव और मंसा देवी मंदिर ट्रस्ट के अध्यक्ष श्रीमहंत रविंद्रपुरी महाराज एवं सचिव स्वामी महंत रामरतन गिरि महाराज ने जांचा-परखा। बताया कि धर्मध्वजा की लकड़ी ऊंचाई में करीब 20 फीट छोटी है। अखाड़े के सचिव रामरतन गिरि ने जानकारी दी कि धर्मध्वजा स्थापना का शुभ मुहूर्त 27 फरवरी को माघी पूर्णिमा के पावन अवसर पर सुबह आठ बजकर 20 मिनट का निकला है। इसी के अनुसार सभी कार्य किए जाएंगे। इस मौके पर बैंड-बाजे का भी इंतजाम किया गया है।

निरंजनी अखाड़े अखाड़े के सचिव श्रीमहंत रविंद्रपुरी ने बताया कि 52 फीट लंबी धर्मध्वजा विशेष रूप से प्रयागराज में बनवाई गई है। यह धर्म का प्रतीक होता है और कुंभ के दौरान अखाड़े की शोभा बनता है। यह जल्द अखाड़े में पहुंच जाएगी।

एसएमजेएन पीजी कॉलेज में बनाई जाएगी छावनी

पंचायती अखाड़ा श्री निरंजनी की छावनी एसएमजेएन पीजी कॉलेज में बनाई जाएगी। 25 फरवरी को संतों की जमात के आगमन को देखते हुए अखाड़े के संतों ने शनिवार को कॉलेज मैदान का मुआयना किया। सचिव श्रीमहंत रविंद्र पुरी ने समय से तैयारियां पूरी करने के निर्देश दिए हैं।

कुंभ के आने वाले शाही स्नान व पर्वों के लिए देश भर से संतों के हरिद्वार पहुंचने का सिलसिला जारी है। इसलिए अखाड़ों में छावनियां बनाने का काम भी तेजी से चल रहा है। पंचायती अखाड़ा श्री निरंजनी शहर में उच्च शिक्षा के लिए एसएमजेएन पीजी कॉलेज का संचालन करता है। कुंभ में अखाड़ा कॉलेज के मैदान में अपनी छावनी बनाएगा। शनिवार को पंचायती अखाड़ा श्री निरंजनी के सचिव श्रीमहंत रविंद्रपुरी, श्रीमहंत रामरतन गिरि, आनंद अखाड़ा के सचिव श्रीमहंत शंकरानंद सरस्वती सहित अन्य संतों ने कॉलेज मैदान का मुआयना किया। श्रीमहंत रविंद्र पुरी ने बताया कि छावनी बनाने का कार्य 25 फरवरी से पहले पूरा कर लिया जाएगा। इस दौरान एसएमजेएन पीजी कॉलेज के प्राचार्य डॉ. सुनील कुमार बत्र, डॉ. संजय माहेश्वरी, डॉ. सरस्वती पाठक भी मौजूद रहे।

रविंद्रपुरी से मिले कैबिनेट मंत्री

शहरी विकास मंत्री मदन कौशिक ने शनिवार को पंचायती अखाड़ा श्री निरंजनी पहुंचकर अखाड़ा सचिव श्रीमहंत रविंद्र पुरी से मुलाकात की। संतों से आशीर्वाद लेते हुए कुंभ की तैयारियों पर चर्चा की। भरोसा दिलाया कि सभी तैयारियां समय पर पूरी कर ली जाएंगी।

यह भी पढ़ें-Haridwar Kumbh Mela 2021: अखाड़ा परिषद की बैठक में हंगामे के आसार

Uttarakhand Flood Disaster: चमोली हादसे से संबंधित सभी सामग्री पढ़ने के लिए क्लिक करें

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप