जागरण संवाददाता, हरिद्वार। Haridwar Kumbh 2021 मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा कि कुंभ मेला दिव्य, भव्य और पूरी तरह सुरक्षित व बेदाग होगा। देश-विदेश से आने वाले श्रद्धालुओं की अपेक्षाओं पर सरकार खरा उतरेगी। सीएम ने कहा कि कुंभ के दृष्टिगत मेला क्षेत्र में स्वीकृत 86 निर्माण कार्यों में से दो के निरस्त होने के बाद शेष 84 में अधिकांश कार्य लगभग पूरे हो चुके हैं। जो कार्य शेष हैं वह 15 फरवरी तक पूरे कर लिए जाएंगे। निर्माण कार्य बढिय़ा और व्यवस्थित तरीके से किए गए हैं।  

रविवार को कुंभ निर्माण कार्यों का मुख्य सचिव ओम प्रकाश और अन्य अधिकारियों के साथ निरीक्षण करने के बाद मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र ङ्क्षसह रावत ने मीडिया से बातचीत में यह जानकारी दी। उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमण अभी खत्म नहीं हुआ है, बल्कि अब यह नए रूप में आ गया है। ऐसे में कुंभ को दिव्य और भव्य के साथ सुरक्षित बनाना राज्य सरकार की जिम्मेदारी है। इसके लिए केंद्र सरकार की ओर से नई गाइड लाइन जारी की गई है। इसके मुताबिक ही कोरोना से बचाव के अनुकूल कुंभ की व्यवस्थाएं होंगी। नई गाइड लाइन के तहत पंजीकृत श्रद्धालुओं को 72 घंटे पूर्व तक की कोरोना आरटीपीसीआर जांच रिपोर्ट दिखानी होगी। पंजीकरण अमरनाथ यात्रा की तर्ज पर होगा, जिसमें चिकित्सा प्रमाण पत्र आवश्यक तौर पर रखा गया है। एसओपी में कुंभ क्षेत्र में सफाई कार्य के कड़े निर्देश जारी किए हैं। मेला अधिष्ठान को सफाई व्यवस्था पर विशेष ध्यान रखने के निर्देश दिए हैं। कुंभ मेले में श्रद्धालुओं को स्वच्छता, धार्मिक परंपराएं और लोक संस्कृति देखने को मिलेंगी। 

निर्माण कार्यों में आ रही दिक्कतों की ली जानकारी 

मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने खडख़ड़ी सूखी नदी पुल, आस्था पथ, गौरीशंकर द्वीप, बैरागी कैंप पुल, रानीपुर झाल पुल और चौधरी चरण ङ्क्षसह घाट का निरीक्षण किया। मुख्यमंत्री ने अधिकारियों से विभिन्न निर्माण कार्यों में आ रही दिक्कतें और पूरा होने के समय को लेकर जानकारी ली। मेलाधिकारी दीपक रावत ने मुख्यमंत्री को कुंभ निर्माण कार्यों के संबंध में विस्तार से जानकारी दी। कैबिनेट मंत्री मदन कौशिक ने कहा कि कुंभ को दिव्य और भव्य बनाने में कोई कोर कसर नहीं छोड़ी जाएगी। 

धर्मार्थ अस्पताल का किया लोकार्पण 

प्राचीन अवधूत मंडल आश्रम के महंत स्वामी राम प्रकाश महाराज की स्मृति में स्थापित श्री स्वामी रामप्रकाश धर्मार्थ चिकित्सालय का लोकार्पण रविवार को मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र ङ्क्षसह रावत ने किया। उन्होंने अस्पताल संचालन को हरसंभव मदद का आश्वासन दिया। कहा कि धर्मार्थ अस्पताल से गरीब तबके को सहूलियत होगी। सीएम ने आश्रम के परमाध्यक्ष स्वामी रूपेंद्र प्रकाश महाराज के कार्यों की सराहना की। कार्यक्रम में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सह सरकार्यवाह डॉ. कृष्ण गोपाल ने बताया कि 40 बेड के इस अस्पताल में दस आइसीयू बेड, ओपीडी के साथ दांत, आंख, कान, नाक आदि का बेहतर इलाज किया जाएगा। इस दौरान शहरी विकास मंत्री मदन कौशिक, विधायक आदेश चौहान, पूर्व महापौर मनोज गर्ग समेत अन्य गणमान्य लोग मौजूद रहे।

यह भी पढ़ें- Haridwar Kumbh Mela 2021: हरिद्वार कुंभ क्षेत्र में प्रवेश करते ही मिलेगा कोविड केयर हेल्पलाइन संदेश 

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021