जागरण संवाददाता, हरिद्वार। Haridwar Kumbh Mela 2021 कुंभ को ध्यान में रखते हुए अस्थायी कार्यों की प्रगति समीक्षा के दौरान मेलाधिकारी दीपक रावत ने सभी सेक्टर मजिस्ट्रेट से टेंटों के निर्माण के बारे में जानकारी हासिल की। मेलाधिकारी ने 20 फरवरी तक सेक्टर मजिस्ट्रेट और पुलिस अधिकारियों को सभी व्यवस्थाएं पूर्ण करने के निर्देश दिए।

अधिकारियों ने नीलधारा में सेक्टर मजिस्ट्रेट का टेंट लगने, लेकिन पानी का कनेक्शन न होने की जानकारी दी। इस पर जल निगम के अधिशासी अभियंता मोहम्मद मीसम ने चंडीटापू के आइवेल से पानी मीडिया सेंटर तक पहुंचने की जानकारी दी। उन्होंने बताया कि दो दिन में सेक्टर मजिस्ट्रेट के टेंट में भी पेयजल आपूर्ति हो जाएगी। पंतद्वीप सेक्टर में बिजली-पानी न होने की जानकारी पर मेलाधिकारी ने संबंधित अधिकारियों से जानकारी ली। लालजी वाला, कनखल, ज्वालापुर में सेक्टर मजिस्ट्रेट और पुलिस के लिए टेंट न लगने का कारण भी मेलाधिकारी ने अधिकारियों से पूछा। गौरी शंकर में पानी की आपूर्ति न होने पर जल निगम के अधिकारियों ने कनेक्शन कराने की जानकारी दी। 

बताया कि रोड़ीबेलवाला के 150 शौचालयों में पानी की आपूर्ति हो गई है। कश्यप घाट क्षेत्र में शौचालय में पानी न होने पर बताया गया कि इस पर काम चल रहा है। गौरीशंकर द्वीप में एक हजार शौचालय बनाने के लक्ष्य की जानकारी भी अधिकारियों ने दी। मेलाधिकारी ने गौरी शंकर और पंतद्वीप क्षेत्र में पार्किंग की व्यवस्था के संबंध में भी अधिकारियों से चर्चा की। मेलाधिकारी ने पुलिस अधिकारियों से पुलिस लाइन में पानी की आपूर्ति आदि व्यवस्थाओं के संबंध में जानकारी ली। अधिकारियों को सभी प्रमुख स्थानों पर 27 फरवरी तक मूत्रलय की व्यवस्था पूर्ण कराने के निर्देश दिए। इस अवसर पर उपमेलाधिकारी अंशुल सिंह, दयानंद सरस्वती, नोडल अधिकारी होमगार्डस डॉ. राहुल सचान समेत अन्य अधिकारी मौजूद रहे।

मेलाधिकारी ने गंगा घाटों का किया निरीक्षण

मेलाधिकारी दीपक रावत ने गुरुवार को मेला नियंत्रण भवन से सटे गंगा घाटों का निरीक्षण किया। हाथी पुल से होते कुशावर्त घाट पहुंचे। उन्होंने पुल की टूटी रेलिंग को ठीक कराने का निर्देश दिया। उन्होंने कुशावर्त घाट पर लगे दुकानों को स्नान के समय हटवाने और साफ सफाई में सुधार कराने को कहा। भाजपा नेता किशन बजाज, श्री गंगा सभा के अध्यक्ष प्रदीप झा, महामंत्री तन्मय वशिष्ठ ने घाट पर आवारा पशुओं के आने से लोगों को हो रही परेशानी की जानकारी देकर आवारा पशुओं का आवागमन बंद कराने की मांग की। मेलाधिकारी ने हनुमान घाट पर प्राचीन श्री हनुमान मंदिर में मत्था टेका। महंत रविपुरी ने पूजन कराया। मेलाधिकारी ने बाजार में कई जगह टूटी सड़क और नालियों को ठीक कराने और सफाई व्यवस्था में सुधार का निर्देश दिया। निरीक्षण के दौरान अपर मेलाधिकारी रामजी शरण शर्मा, उप मेलाधिकारी दयानंद सरस्वती, सेक्टर मजिस्ट्रेट आदि उपस्थित रहे।मेलाधिकारी ने रोड़ी बेलवाला क्षेत्र में परखी व्यवस्थाएं

मेलाधिकारी दीपक रावत ने गुरुवार को महाकुंभ की तैयारियों के दृष्टिगत रोड़ी बेलवाला क्षेत्र का निरीक्षण किया। उन्होंने पर्यटन गेस्ट हाउस के निकट लगाए गए फुट ऑपरेटेड नल को ऑपरेट करके देखा। रोड़ी बेलवाला क्षेत्र में स्थापित थाने की व्यवस्थाओं को परखा। जहां उन्होंने टेंट, पीने के पानी की स्थिति, स्टोर रूम, मेस, शौचालय, सीवर, सेफ्टी टैंक आदि की क्षमता के संबंध में अधिकारियों से जानकारी ली। मेलाधिकारी ने रामायण पथ के निकट रखे मलबे को यथाशीघ्र हटवाने के निर्देश दिए। साथ ही अधिकारियों को कार्यों में गुणवत्ता का ध्यान रखने को कहा। इस मौके पर उप मेलाधिकारी अंशुल सिंह, दयानंद सरस्वती, सभी सेक्टर मजिस्ट्रेट, लोक निर्माण, पेयजल, सिंचाई, विद्युत समेत संबंधित विभागों के अधिकारी मौजूद रहे।

यह भी पढ़ें-कुंभ अवधि एक माह करने के फैसले का संतों ने किया स्वागत

Uttarakhand Flood Disaster: चमोली हादसे से संबंधित सभी सामग्री पढ़ने के लिए क्लिक करें

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप