रुड़की, [जेएनएन]: कांग्रेस की ओर से आयोजित जन आक्रोश रैली में कांग्रेस नेताओं ने केंद्र और राज्य सरकार पर जमकर निशाना साधा। कांग्रेस ने दोनों सरकारों को पूरी तरह से जन विरोधी बताया गया। साथ ही मोदी सरकार को जुमलों की सरकार बताया। बाद में कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने रुड़की तहसील पहुंचकर केंद्र सरकार का पुतला फूंका और दोनों सरकारों के खिलाफ जमकर नारेबाजी की।

पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार, बृहस्पतिवार को कांग्रेस कार्यकर्ता नगर निगम सभागार में जुटे। यहां पर प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह ने कहा कि यह सरकार पूरी तरह से जनविरोधी है। भाजपा केंद्र में जिन वायदों को करके आई थी, उनमें से एक भी वायदे को पूरा नहीं किया गया। महंगाई लगातार बढ़ती जा रही है। आम आदमी के लिए जीना मुश्किल हो गया।

किसान, मजदूर, बेरोजगार, युवा, सरकारी कर्मचारी और व्यापारी हर कोई इस सरकार से त्रस्त है। पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने कहा कि यह सरकार पूरी तरह से किसान विरोधी है। किसानों के गन्ने का भुगतान नहीं हो पाया है। आज प्रदेश के अंदर किसान आत्महत्या कर रहा है, लेकिन यह सरकार चुप बैठी हुई है। प्रदेश सरकार ने डेढ़ साल के कार्यकाल में कोई ऐसा काम नहीं किया, जिसे वह अपनी उपलब्धि बता सके।

केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि मोदी सरकार पूरी तरह से जुमलों की सरकार है। चार साल से अधिक समय हो गया है, लेकिन केंद्र सरकार ने एक भी काम नहीं किया है। पिछले दिनों सरकार ने खरीफ के दाम में मामूली बढ़ोत्तरी की तो उसे दोगुना बताया जा रहा है। नेता प्रतिपक्ष इंदिरा ह्दयेश ने कहा कि यह सरकार महिलाओं का अपमान कर रही है। 

सीएम के जनता दरबार में जिस तरह से एक शिक्षिका का अपमान किया गया है वह निदंनीय है। इस मौके पर विधायक काजी निजामुद्दीन, ममता राकेश, फुरकान अहमद, पूर्व महापौर यशपाल राणा, किसान आयोग के अध्यक्ष चौधरी राजेन्द्र सिंह, अशोक चौधरी, विवेक चौधरी, डॉ. संजय पालीवाल, पूर्व विधायक तस्लीम अहमद, यूथ कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष जितेन्द्र पंवार, विकास त्यागी, सत्यपाल सिंह, पूर्व पालिका अध्यक्ष दिनेश कौशिक, सरिता आर्य, बरखा देवी आदि कार्यकर्ता मौजूद रहे।

यह भी पढ़ें: भाजपा की सोशल मीडिया को चुनावी ताकत बनाने की तैयारी

यह भी पढ़ें: अजय भट्ट का विपक्ष पर तंज, उत्तराखंड को डबल इंजन से मिल रहा बहुत कुछ

यह भी पढ़ें: कैबिनेट बैठक में इन फैसलों पर लगी मुहर, जानिए

Posted By: Sunil Negi