देहरादून, जेएनएन। कौलागढ़ स्थित बीआर आंबेडकर स्टेडियम में आयोजित 23वें विरासत कार्यक्रम के 12वें दिन हरियाणा के कलाकारों ने धमाल नृत्य पेश किया। इसे देखकर दर्शक भी झूम उठे। 

धमाल नृत्य हरियाणा के झज्जर जिलें में प्रचलित है। धमाल नृत्य की प्रस्तुति में पंद्रह से बीस नर्तक शामिल रहे। यह नृत्य महाभारत काल से प्रचलन में है। इस दौरान प्रस्तुति में सारंगी, बीन, ढोलक और खड़ताल जैसे पुराने वाद्य यंत्रों का इस्तेमाल किया। 

पटियाला घराने की बंदीश सुन झूमे श्रोता  

प्रसिद्ध गायिका कौशिका चक्रवर्ती ने पटियाला घराने की प्रसिद्ध बंदीश प्रभु रंग वीणा... की प्रस्तुति दी। इसे सुनकर दर्शक झूम उठे। इस दौरान उन्होंने तीन ताल पर देव महेश्वर महादेव शिव वंदना और धृत तीन ताल पर गुरु ज्ञान प्रकाश की बेग मिलाओ... की प्रस्तुति दी।

पेंटिंग बनाकर दी बापू को श्रद्धांजलि 

विरासत के कार्यक्रम में पहली बार देहरादून निवासी आकाश गुप्ता ने स्पीड पेंटिंग की। इस दौरान उन्होंने 6-7 मिनट में पेंटिग तैयार कर राष्ट्र पिता महात्मा गांधी को उनकी 150वीं जयंति पर श्रद्धांजलि दी। 

विरासत में तीन स्टॉलों पर बाट माप का जुर्माना

विरासत की मुश्किलें खत्म होने का नाम नहीं ले रही हैं। पहले नगर निगम ने एक लाख का जुर्माना लगा दिया और अब बाट माप विभाग ने यहां स्टालों पर जुर्माना लगाया है। तीन स्टॉलों पर 75 हजार रुपये का जुर्माना लगाया गया है। 

बाट माप विभाग ने दून में विभिन्न स्थानों पर अभियान चलाया। बाट माप विभाग के संयुक्त नियंत्रक केके शर्मा की अगुवाई में देर शाम को टीम ने विरासत सम्मेलन में लगे तीन स्टॉलों पर कार्रवाई की। 

इन पर पैकेज कमोडिटी रूल के उल्लंघन पर कार्रवाई हुई है। इन स्टॉल पर बिक रहे कुछ सामान ऊपर ना तो मूल्य लिखा था, नहीं कंपनी का नाम और पता। टीम में शामिल इंस्पेक्टर ऋषिकेश अशोक कुमार ने बताया कि पेठा और नमकीन समेत अन्य सामान पर मूल्य और अन्य जानकारी नहीं लिखी थी।

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड पुलिस के कांस्टेबल सुमित ने केबीसी में जीते 3.20 लाख

बताया कि पैकिंग के नियम का पालन नहीं करने पर न्यूनतम 25000 रुपये का चालान भरना पड़ता है। विभाग ने केस दर्ज कर लिए हैं। तमाम औपचारिकताओं के बाद चालान वसूला जाएगा। इसके अलावा रिस्पना पुल के पास अर्बन स्टोर पर भी जुर्माना लगाया है। यहां भी पैकैजिंग नियमों का उल्लंघन किया जा रहा था। इसके अलावा स्टोर में विदेशी सामान पर भी पैकेजिंग नियमों का उल्लंघन किया जा रहा था।

यह भी पढ़ें: सौ करोड़ के लिए नहीं, मुद्दों पर फिल्म बनाना पसंद है विवेक अग्निहोत्री को

Posted By: Bhanu

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप