संवाद सहयोगी, रुद्रप्रयाग : मध्यमेश्वर-पांडवशेरा ट्रैक पर लापता हुए नौ ट्रैकर की लोकेशन का पता चल गया है। सूचना पर राज्य आपदा मोचन बल (एसडीआरएफ) की सर्च एवं रेस्क्यू टीम ने देहरादून से हेलीकाप्टर से उड़ान भरी। लेकिन, घना कोहरा होने के कारण हेलीकाप्टर पांडवशेरा नहीं जा सका। टीम वापस अगस्त्यमुनि आ गई है।

सुरक्षित निकालने के लिए सेना से मदद मांगी

रुद्रप्रयाग के जिलाधिकारी मयूर दीक्षित ने बताया कि पांच ट्रैकर व चार पोर्टर पांडवशेरा में फंसे हैं। उनके पास एक दो दिन का राशन बचा हुआ है और सुरक्षित गुफा में हैं। उनको वहां से सुरक्षित निकालने के लिए सेना से मदद मांगी गई है। रविवार को उनको सुरक्षित निकाल लिया जाएगा।

घने बादल छाए होने से रेस्क्यू टीम का हेलीकाप्टर वापस लौट आया

रुद्रप्रयाग जिला कंट्रोल रूम से एसडीआरएफ को सूचना मिली कि नौ ट्रैकर्स पांडवशेरा ट्रैक पर ट्रैकिंग के दौरान लापता हो गए है, जिनके पास भोजन व पानी की कोई व्यवस्था नहीं है, जिन्हें मदद की आवश्यकता है। पुलिस उपमहानिरीक्षक एसडीआरएफ रिद्धिम अग्रवाल ने घटना की संवेदनशीलता को देखते हुए त्वरित रेस्क्यू के लिए नागरिक उड्डयन विभाग से चापर की व्यवस्था करते हुए त्वरित रेस्क्यू के निर्देश दिए।

एसडीआरएफ के सेनानायक मणिकांत मिश्रा के दिशा-निर्देशन में एसडीआरएफ की हाई एल्टीट्यूट रेस्क्यू टीम त्वरित रेस्क्यू के लिए जरूरी रेस्क्यू उपकरणों व सेटेलाइट फोन के साथ सहस्त्रधारा हेलीपैड से चापर के जरिये पांडवशेरा ट्रैक के लिए रवाना हुई। टीम ने पांडवशेरा रूट पर सर्च एंड रेस्क्यू आपरेशन शुरू किया। लेकिन, मौसम खराब होने व मध्यमेश्वर घाटी में घने बादल छाए होने से रेस्क्यू टीम का हेलीकाप्टर वापस लौट आया।

Edited By: Nirmala Bohra