जागरण संवाददाता, देहरादून: उत्तराखंड डिप्लोमा इंजीनियर्स संघ, सिंचाई विभाग ने मांगों को लेकर आवाज बुलंद की। कार्मिकों की समस्याओं पर ध्यान न देने से खफा संघ ने आंदोलन की चेतावनी दी है। उन्होंने सिंचाई विभाग के कार्यालय में दो अगस्त से धरना देने का एलान किया है।

संघ के महासचिव अनिल सिंह पंवार ने कहा विभिन्न समस्याओं का निस्तारण न होने से कार्मिकों में रोष है। उन्होंने प्रमुख अभियंता को ज्ञापन भेजकर मांगों से अवगत कराया है। कहा कि पूर्व में प्रमुख अभियंता के साथ हुई वार्ता में समस्याओं को हल करने का आश्वासन दिया गया था, लेकिन अभी तक उन पर कोई कार्रवाई नहीं हुई। उन्होंने कहा कि प्रमुख मांगों में चयन वर्ष 2020-21 में अपर सहायक अभियंता (सिविल) से सहायक अभियंता (सिविल) के पदों पर होने वाली पदोन्नति के संबंध में लोक सेवा आयोग की ओर से दस्तावेज विभाग से मांगे गए, जो अभी तक उपलब्ध नहीं कराए जाने, डीपीसी न किए जाने, विगत दो वर्षों से स्थानांतरण सत्र शून्य होने के कारण वर्तमान में इस संघ के कई सदस्यों के स्थानांतरण लंबित होने पर उन्होंने नाराजगी जताई है। उच्च न्यायालय के आदेशानुसार 55 कनिष्ठ अभियंता को जल संस्थान से सिंचाई विभाग के लिए भेजा गया था, जिनकी सेवा जोडऩे के संबंध में आश्वासन दिया गया था कि प्रकरण को शासन भेजा जाएगा, लेकिन अभी तक यह कार्मिक-2 में ही लंबित है। इस प्रकार की कई अन्य मांगें भी विभागीय स्तर पर लंबित हैं। ऐसे में अब आंदोलन ही विकल्प बचा है।

यह भी पढ़ें- देहरादून में लगातार मूसलधार बारिश से शहर हुआ पानी-पानी, कालोनियों में भरा पानी; कई जगह दीवारें भी गिरीं

Edited By: Sumit Kumar