राज्य ब्यूरो, देहरादून। Uttarakhand Assembly Elections 2022 उत्तराखंड में अगले साल की शुरुआत में होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए मैदान में उतर चुकी भाजपा अपनी रणनीति में कोई कोर-कसर छोड़ने के पक्ष में नहीं है। भाजपा का राष्ट्रीय नेतृत्व भी निरंतर चुनाव अभियान की समीक्षा कर रहा है। इस क्रम में शनिवार देर रात दिल्ली में भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा (JP Nadda) और राष्ट्रीय महामंत्री संगठन बीएल संतोष (BL Santosh) की मौजूदगी में हुई बैठक में विधानसभा चुनाव को लेकर मंथन किया गया। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी (Pushkar Singh Dhami) भी देर रात इस बैठक में शामिल हुए। माना जा रहा कि राष्ट्रीय नेतृत्व ने चुनाव की रणनीति, तैयारी समेत अन्य महत्वपूर्ण विषयों पर मुख्यमंत्री से फीडबैक लिया। इसके अलावा चार दिसंबर को देहरादून में होने वाली प्रधानमंत्री की रैली के संबंध में विमर्श किया गया।

मुख्यमंत्री धामी शनिवार शाम को दिल्ली पहुंचे। फिर उन्होंने भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा से मुलाकात की। इसके बाद हुई बैठक में राष्ट्रीय अध्यक्ष नड्डा, राष्ट्रीय महामंत्री संगठन बीएल संतोष, मुख्यमंत्री धामी, प्रदेश चुनाव प्रभारी प्रल्हाद जोशी, प्रदेश प्रभारी दुष्यंत कुमार गौतम ने विधानसभा चुनाव को लेकर विचार-विमर्श किया। माना जा रहा कि देर रात तक चली बैठक में चुनावी रणनीति के अलावा देवस्थानम प्रबंधन बोर्ड, प्रधानमंत्री की रैली, चुनाव के मद्देनजर केंद्रीय मंत्रियों व राष्ट्रीय नेताओं के प्रस्तावित दौरे समेत कई विषयों पर चर्चा की गई।

देवस्थानम प्रबंधन बोर्ड को लेकर राज्य में तीर्थ पुरोहित मुखर हैं। हालांकि, सरकार ने अब इस संबंध में उच्च स्तरीय कमेटी की अंतिम रिपोर्ट मिलने के बाद मंत्रिमंडलीय उपसमिति गठित कर दी है। माना जा रहा कि इस बारे में भी मुख्यमंत्री ने राष्ट्रीय नेतृत्व को फीडबैक दिया। साथ ही प्रधानमंत्री की रैली की तैयारियों के बारे में भी जानकारी दी।

यह भी पढ़ें- Uttarakhand assembly session: कांग्रेस ने सत्र पर असमंजस के लिए सरकार को घेरा, जानें- नेता प्रतिपक्ष प्रीतम सिंह क्या बोले

Edited By: Raksha Panthri