हरिद्वार, जेएनएन। कनखल में जमीन के एक फर्जीवाड़े में दंपती समेत सात लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया गया है। एसआइएस सेल की जांच में सामने आया है कि सात लोगों ने फर्ज़ी दस्तावेजों के आधार पर एक दूसरे को ज़मीन बेची और बैंक से 2.28 करोड़ का लोन भी ले लिया गया। खास बात यह है कि जांच में शिकायतकर्ता भी धोखाधड़ी का आरोपित निकला है। जांच अधिकारी की तरफ से शिकायतकर्ता सहित कुल सात आरोपितों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया गया है।

पुलिस के मुताबिक शेखुपुरा कनखल निवासी महिपाल ने कुछ दिन पहले एसएसपी हरिद्वार को एक शिकायती पत्र दिया था। जिसमें उसने आरोप लगाया था कि कनखल की ज्ञानलोक कॉलोनी स्थित उसकी जमीन का फर्जीवाड़ा कर कुछ लोगों ने बैंक से करोड़ों रुपये का लोन ले लिया है एसएसपी ने मामले की जांच एसआइएस शाखा को दी। सेल के दारोगा देवेंद्र कुमार पंत ने छानबीन में पाया कि महिपाल के पिता ने पूर्व में यह जमीन किसी को भेज दी थी। लेकिन जमीन खरीदने वाले ने दाखिल खारिज नहीं कराया। बाद में महिपाल ने इस जमीन का दाखिल खारिज अपने नाम कराते हुए आगे फरोख्त कर दी। इस प्रकार यह जमीन तरनजीत सिंह व उनकी पत्नी गुरप्रीत कौर निवासीगण ग्राम सहदेवपुर च्वालापुर, संजय दीक्षित निवासी विद्या विहार किशनपुर सहस्त्रधारा रोड देहरादून, पंकज त्यागी निवासी बीटी गंज रुड़की, मुकेश गर्ग निवासी सिविल लाइंस रुड़की, बृजेश कुमार निवासी आत्मलपुर बोंगला बहादराबाद को बेची गई। 

इस जमीन पर बीटी गंज रुड़की निवासी मुकेश गर्ग ने 2.28 करोड़ का लोन भी ले लिया। जांच में पता चला है कि सभी लोगों को जमीन के विवाद होने की जानकारी दी इसके बावजूद उन्हें खरीद फरोख्त कर फर्जीवाड़े को आगे बढाया। जांच अधिकारी देवेंद्र पंत की तरफ से शिकायतकर्ता महिपाल सहित सभी सात आरोपितों के खिलाफ कनखल थाने में मुकदमा दर्ज करा दिया गया है। एसपी सिटी कमलेश उपाध्याय ने बताया कि मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। नियमानुसार कार्रवाई की जाएगी।

यह भी पढ़ें: एटीएम कार्ड बदलकर मिल कर्मचारी के खाते से उड़ाए 25 हजार

यह भी पढ़ें: ओएलएक्स पर स्कूटी बेचने के नाम पर पूर्व सैनिक से ठगी

Posted By: Sunil Negi

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप