देहरादून, जेएनएन। देहरादून के अलग-अलग थाना क्षेत्रों में तीन युवकों ने आत्महत्या कर ली। बताया जा रहा है कि तीनों युवक काफी वक्त से अवसाद से जूझ रहे थे। हालांकि, पुलिस अभी मामलों की हर तरह से जांच में जुटी हुई है। 

पहला मामला रायपुर थाना क्षेत्र का है। एसओ रायपुर अमरजीत सिंह रावत ने बताया कि यहां लोअर नेहरूग्राम में निशांत पाल ने फांसी लगाकर जान दे दी। स्वजनों ने बताया कि निशांत किसी कारण से तनाव में था। उसने दो-तीन दिन से खाना भी नहीं खाया था। शनिवार सुबह निशांत ने दरवाजा नहीं खोला। चिंता होने पर स्वजनों ने खिड़की से कमरे में झांककर देखा तो वह पंखे से लटक रहा था। निशांत के पिता ने बताया कि वह आइएसबीटी स्थित एक प्राइवेट कंपनी में अकाउंटेंट था और लॉकडाउन के बाद से वर्क फ्रॉम होम कर रहा था।

दूसरी घटना प्रेमनगर थाना क्षेत्र की है। एसओ धर्मेद्र रौतेला ने बताया कि स्मिथनगर में रहने वाला अंकित पहले दिल्ली में नौकरी करता था। एक वर्ष पहले वह दिल्ली से दून आ गया। स्वजनों के अनुसार तभी से वह मानसिक रूप से परेशान चल रहा था। शनिवार को अंकित ने एक कमरे में फांसी लगा ली। मृतक के पिता मजदूरी और मां लोगों के घरों में काम करती है।

यह भी पढ़ें: देहरादून में विवाहिता समेत तीन ने फांसी लगाकर की आत्महत्या Dehradun News

वहीं, वसंत विहार थाना क्षेत्र में युवक ने गमछे का फंदा बनाकर जान दे दी। एसओ नत्थीलाल उनियाल ने बताया कि विजय पार्क निवासी अमित ठाकुर भाई और भाभी के साथ रहता था। वह निरंजनपुर में एक प्राइवेट कंपनी में काम करता था। एक साल पहले अमित की मां का देहांत हो जाने से वह अवसाद में चल रहा था। शनिवार को उसका शव टिन की छत में लगी रॉड से गमछे के सहारे लटकता मिला। मौके से कोई सुसाइड नोट नहीं मिला है।

यह भी पढ़ें: दो युवक और एक वृद्ध ने फांसी लगाकर जान दी Dehradun News

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021