देहरादून, जेएनएन। चारधाम यात्रा पर आए मध्य प्रदेश के पूर्व मंत्री समेत तीन यात्रियों की हृदयगति रुकने मौत हो गई। कांग्रेस नेता पूर्व मंत्री शिव नारायण मीणा (70 वर्ष) की मौत बुधवार सुबह रुद्रप्रयाग स्थित हनुमान गुफा मंदिर की धर्मशाला में हुई, जबकि एक अन्य यात्री ने केदारनाथ और एक ने यमुनोत्री धाम में दम तोड़ा।

पुलिस के अनुसार पूर्व मंत्री शिवनारायण पुत्र जमुना लाल ग्राम कीताखेड़ी, जिला गुना (मध्य प्रदेश) अपने चार परिजनों के साथ चारधाम यात्रा पर आए थे। यमुनोत्री, गंगोत्री, केदारनाथ और बदरीनाथ दर्शनों के बाद वह मंगलवार को रात्रि विश्राम के लिए रुद्रप्रयाग पहुंचे। बुधवार को यहां उनका गंगा दशहरा पूजन का कार्यक्रम था। इसके लिए उन्होंने स्नान कर सभी तैयारियां भी कर ली थीं, लेकिन इसी बीच सुबह सात बजे वह अचानक गश खाकर गिर पड़े। 

परिजनों समेत स्थानीय लोगों ने शिवनारायण को तत्काल जिला अस्पताल पहुंचाया, जहां डॉक्टर ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। पूर्व मंत्री के भांजे राजेंद्र सिंह ने बताया शिव नारायण चार बार मध्य प्रदेश विधानसभा के सदस्य रहे। इस दौरान दो बार वह दिग्विजय सरकार में मंत्री भी रहे। 

उधर, मंगलवार रात आठ बजे दर्शनों के बाद केदारनाथ मंदिर परिसर में ग्राम पथरहा, पोस्ट डेरा, जिला रीवा (मध्य प्रदेश) निवासी कांता केबट (70 वर्ष) की तबीयत अचानक बिगड़ गई। परिजनों ने कांता को सिक्स सिग्मा हॉस्पिटल पहुंचाया, जहां डॉक्टर ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। दूसरी ओर बुधवार शाम चेन्नई (तमिलनाडु) निवासी वेंकट राव (75 वर्ष) पुत्र शंभूगम अपने परिवार के साथ यमुनोत्री दर्शनों को पहुंचे। इसी बीच धाम में अचानक उनकी तबीयत खराब हो गई। परिजनों ने वेंकट राव को तत्काल जानकीचट्टी स्थित अस्पताल में पहुंचाया, जहां डॉक्टर ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। मौत का कारण हृदयगति रुकना बताया गया।

चारों धाम में हृदयगति रुकने से मरे यात्री

बदरीनाथ, 03

केदारनाथ, 28

गंगोत्री, 04

यमुनोत्री, 09

यह भी पढ़ें: केदारनाथ और यमुनोत्री दर्शन में तीन यात्रियों की हार्ट अटैक से मौत

यह भी पढ़ें: केदारनाथ और गंगोत्री में चार तीर्थयात्रियों की हृदय गति रुकने से मौत

यह भी पढ़ें: केदारनाथ में हार्ट अटैक आने से राजस्थान की दो महिला यात्रियों की हुई मौत

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Raksha Panthari