जागरण संवाददाता, देहरादून: दून के आर्यन सिंह ने अपने दोस्तों अक्षित सक्सेना और आदित्य कश्यप के साथ मिलकर नया फूड स्टार्टअप 'फिटब्रेड' लांच किया है। तीनों युवा यूनिवर्सिटी आफ पेट्रोलियम एंड इनर्जी स्टडीज (यूपीईएस) के स्कूल आफ बिजनेस के पूर्व छात्र हैं। यूपीईएस काउंसिल फार इनोवेशन एंड इंटरप्रेन्योरशिप (यूसीईआइ) की सलाह के बाद ब्रेड के इस नए ब्रांड (फिटब्रेड) को लांच किया गया। इसने नाश्ते में ब्रेड पसंद करने वालों को सेहतमंद विकल्प मुहैया कराया है।

विश्वविद्यालय का दावा है कि युवाओं के इस स्टार्टअप को उपभोक्ताओं की खूब प्रशंसा मिल रही है। यूपीईएस काउंसिल फार इनोवेशन एंड इंटरप्रेन्योरशिप उद्यमिता को बढ़ावा, सलाह व परामर्श देने और राज्य के छात्र-छात्राओं की संसाधनों तक पहुंच आसान बनाने के लिए विशेष योगदान दे रहा है। अक्षित सक्सेना ने बताया कि उनकी फर्म अपने काम के माध्यम से महिलाओं को रोजगार उपलब्ध करा रही है। जिससे महिला सशक्तीकरण को बल मिल सके।

यह भी पढ़ें- छितकुल की ट्रैकिंग पर गए 11 सदस्यीय दल में पांच पर्यटकों की मौत, अन्‍य को किया जा रहा हेली रेस्‍क्‍यू

ऐसे मिला आइडिया

आर्यन, अक्षित और आदित्य दून में यूपीईएस के सामने कैफे चलाते हैं। यहां उन्होंने महसूस किया कि अधिकांश युवा इस समय मार्केट में उपलब्ध ब्रेड से कई तरह की शिकायत करते हैं। इसे देखते हुए उनके मन में पौष्टिक ब्रेड बनाने का विचार आया। आर्यन का कहना है कि बाजार में मिलने वाली सामान्य ब्रेड में सिंथेटिक रंग और सिर्फ 30 से 32 फीसद आटा प्रयोग होता है। बाकी मैदा व सफेद आटा प्रयोग किया जाता है। मल्टीग्रेन ब्रेड में भी अनाज का इस्तेमाल सिर्फ ब्रेड की बाहरी परत पर किया जाता है।

ऐसे तैयार किया जाता है फिटब्रेड

बकौल आर्यन, फिटब्रेड बनाने में सिर्फ गेहूं का आटा इस्तेमाल किया जाता है। इसमें अलसी के बीज और एमारैंथ के बीज डाले जाते हैं। किसी प्रकार का रासायनिक पदार्थ या प्रीजर्वेटिव इस्तेमाल नहीं किया जाता। इसलिए यह अन्य ब्रेड की तुलना में स्वादिष्ट और सेहतमंद है।

यह भी पढ़ें- केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह उत्‍तराखंड में आपदा प्रभावित क्षेत्रों के हवाई सर्वेक्षण के लिए देहरादून से हुए रवाना

Edited By: Sumit Kumar