देहरादून, जेएनएन। दिनदहाड़े बंद घरों का ताला तोड़ चोरी कर पुलिस को खुली चुनौती देने वाले शहजाद गैंग के दो शातिर आखिरकार देहरादून पुलिस के चंगुल में आ ही गए। यह दोनों चोरी के मामले में जमानत पर हैं और तारीखों पर जब भी कोर्ट में पेश होने आते तो कहीं न कहीं चोरी की वारदात को अंजाम देकर फरार हो जाते। बीते एक महीने के इस तरह दोनों ने वसंत विहार थाना क्षेत्र में पांच, नगर कोतवाली क्षेत्र में दो और पटेलनगर क्षेत्र में एक समेत कुल आठ चोरियों को अंजाम दिया। गिरोह सरगना शहजाद व उसके गुर्गों पर देहरादून और हरिद्वार में डेढ़ दर्जन से अधिक मुकदमे दर्ज हैं।

पुलिस अधीक्षक नगर श्वेता चौबे ने बताया कि वसंत विहार के इंजीनियर्स एनक्लेव, इंद्रानगर, सीमाद्वार, हेमकुंज कॉलोनी विजय पार्क व मोहित विहार समेत कोतवाली और पटेलनगर में बंद घरों में चोरियों को गैंग ने दिन या फिर शाम के धुंधलके में अंजाम दिया था। जब सभी जगहों के आसपास लगे कैमरों की फुटेज निकाली गई तो उन सभी में दिख रहे संदिग्ध एक ही थे।

फुटेज को जब पुराने और जमानत पर बाहर घूम रहे चोरों की फोटो से मिलान किया गया तो पता चला कि वारदात को रुड़की का शहजाद गैंग अपने दो साथियों शमीम व दानिश के साथ मिलकर अंजाम दे रहा है। शमीम और दानिश पांच-छह महीने पहले राजपुर में मंदाकिनी विहार और सहस्रधारा रोड पर हुई चोरियों में जेल जा चुके हैं, लेकिन इस समय जमानत पर बाहर हैं। इस पर कोर्ट से पता कि मुकदमों में वह तारीख पर आ रहे हैं या नहीं। पता चला कि तीनों मुकदमों की हर तारीख पर कोर्ट आ रहे हैं।

पुलिस तब और चौंकी जब बीते दिनों हुई चोरी की घटनाओं के दिन से तारीखों का मिलान किया। एसपी सिटी ने बताया कि अधिकांश चोरियां उसी दिन की निकलीं, जिस दिन वह कोर्ट में तारीख पर आए थे। ऐसे में पक्का हो गया कि इन सभी चोरियों को शहजाद गैंग ने ही अंजाम दिया है। दोनों के पास से तीन मोबाइल फोन और एक बाइक भी बरामद की गई है।

चोरी कर अजमेर भाग गया था दानिश

तीनों की पहचान होने के बाद पुलिस ने मुखबिर तंत्र से जब लोकेशन ट्रेस की तो पता चला कि दानिश परिवार के साथ अजमेर गया हुआ। जबकि शमीम देहरादून में ही कहीं छिपा हुआ है, लेकिन शहजाद के बारे में कुछ पता नहीं चल सका। शुक्रवार को पुलिस को मुखबिर ने जानकारी दी कि दानिश देहरादून में कोर्ट में तारीख के सिलसिले में आया और शमीम से मिलने जा रहा है। इस बीच वसंत विहार पुलिस अपने क्षेत्र के बंद घरों की निगरानी तेज कर दी थी। शुक्रवार की रात काली मंदिर के पास एक बंद घर से कुछ दूरी पर दानिश और शमीम घूमते दिख गए। जिन्हें पुलिस ने घेराबंदी कर दबोच लिया।

असलहा भी रखते थे साथ

पुलिस को दानिश और शमीम के पास से एक विदेशी रिवाल्वर और एक कंट्री मेड पिस्टल भी बरामद हुआ है। पूछताछ में आरोपितों ने बताया कि दिन के समय वारदात को अंजाम देने के दौरान पकड़े जाने या घर के लोगों के वापस आने का खतरा बना रहता था। इसलिए वह असलहा साथ रखते थे, ताकि किसी के आने पर डरा-धमका कर चुप करा सकें। एसपी सिटी ने बताया कि रिवाल्वर कहां से चोरी की गई है, इस संबंध में देहरादून के साथ हरिद्वार व रुड़की के सभी थानों से डिटेल मांगी गई है।

शहजाद की गिरफ्तारी को भेजी टीम

दानिश और शमीम से सरगना शहजाद के छिपने के कई संभावित ठिकानों की जानकारी मिली है। एसपी सिटी ने बताया कि वसंत विहार पुलिस की टीम उसे पकडऩे के लिए रवाना हो चुकी है। जल्द ही उसे भी गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

यह भी पढ़े: पहले युवती को बनाया फेसबुक फ्रेंड, फिर उसके घर में की चोरी

रात में तगड़ी गश्त के कारण चुना दिन का समय

देहरादून पुलिस की तगड़ी रात्रि गश्त का खौफ चोरों-बदमाशों को बुरी तरह डराने लगा है। दानिश व शमीम ने पूछताछ में बताया कि पहले बंद घरों में रात के समय चोरी की योजना थी, लेकिन शहर में घूम कर देखा कि पुलिस हर जगह हर एक शख्स की तलाशी ले रही है। इस पर दिन और शाम के समय चोरियों को अंजाम देना पड़ा और रात होने से पहले सभी दून की सीमा से बाहर निकल जाते थे।

यह भी पढ़ें: दून के कैंट क्षेत्र की तीन चोरियों में हिस्ट्रीशीटर गिरफ्तार Dehradun News

Posted By: Sunil Negi

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस