जागरण संवाददाता, देहरादून। उत्तराखंड के देहरादून में किशन नगर चौक स्थित सोमानी सिंघल ग्रेनाइट हाउस की पांच मंजिला बिल्डिंग में आग लगने से लाखों का नुकसान हो गया। आग इतनी तेज थी कि फायर ब्रिगेड के 11 वाहनों को चारों तरफ से आग बुझाने के लिए लगाया गया। तीन घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया गया।

घटना करीब सवा पांच बजे की है। अग्निशमन अधिकारी सुरेश चंद्र ने बताया कि वह निजी वाहन से किसी से मिलने जा रहे थे, कि उन्होंने बिल्डिंग से धुंआ उठता हुआ देखा। उन्होंने तुरंत इसकी सूचना फायर स्टेशन में की। जब तक वाहन मौके पर पहुंचते आग की तेज लपटें निकलनी लगी। आग तीसरी मंजिल से ऊपर लगी। यहां पर सैनिटरी व टाइल्स का काफी मात्रा में सामान रखा हुआ था। उन्होंने बताया कि संभवत: शार्ट सर्किट की वजह से आग लगी है। घटना की सूचना पाकर एसपी सिटी सरिता डोबाल व कैंट कोतवाली पुलिस भी मौके पर पहुंच गई। आग भड़कती देख ओएनजीसी, डिफेंस व सेलाकुई फायर स्टेशन से गाड़ियां बुलाई गई। कहीं जाकर आठ बजे आग पर काबू पाया जा सका।

कैंट कोतवाली के इंस्पेक्टर विद्याभूषण नेगी ने बताया कि शुक्रवार को सभी दुकानें खुली हुई थी। जिस बिल्डिंग में आग लगी वह भी खुली हुई थी। पांच बजे दुकानें बंद होने का समय था, ऐसे कुछ स्टाफ ड्यूटी खत्म करके अपने घरों को चले गए। शोरूम में कुछ स्टाफ घर जाने की तैयारी कर रहा था, इसी दौरान अचानक आग लग गई और वह भागकर नीचे आ गए।

अगल बगल शोरूम के अग्नि सुरक्षा यंत्रों की भी ली मदद

अग्निशमन अधिकारी ने बताया कि घटनास्थल पर अगल-बगल में शोरूमों के अग्नि सुरक्षा यंत्रों की मदद से भी आग बुझाई गई। उन्होंने बताया कि जिस बिल्डिंग में आग लगी, उसमें भी अग्नि सुरक्षा यंत्र लगाए हुए थे, लेकिन उनका इस्तेमाल नहीं हो सका।

यह भी पढ़ें- देहरादून के तिलक रोड पर दुकान में लगी भीषण आग, फायर ब्रिगेड की टीम गाडिय़ों ने आग पर पाया काबू

Uttarakhand Flood Disaster: चमोली हादसे से संबंधित सभी सामग्री पढ़ने के लिए क्लिक करें

Edited By: Raksha Panthri