जागरण संवाददाता, देहरादून। बरेली से गिरफ्तार नशा तस्कर रिजवान को दो दिन की पुलिस कस्टडी रिमांड लेकर एसटीएफ मंगलवार को रिजवान के घर पहुंची। इस दौरान पुलिस के हाथ पांच मोबाइल फोन व अवैध रूप से कमाई गई करोड़ों की संपत्ति के दस्तावेज लगे हैं। रिजवान के निशानदेही पर पुलिस ने बड़े तस्कर नदीम निवासी फतेहगंज, बरेली के घर दबिश दी, मगर वह पुलिस के पहुंचने से पहले ही फरार हो गया।

एसटीएफ के एसएसपी अजय सिंह ने बताया कि एंटी ड्रग टास्क फोर्स ने नौ मार्च को दो आरोपित सूरज कुमार निवासी ग्राम करोंदी, भगवानपुर, हरिद्वार व सोनू सैनी निवासी ग्राम रायपुर, भगवानपुर, हरिद्वार को चंडी चौक से गिरफ्तार किया था। आरोपित सूरज कुमार से 305 ग्राम व सोनू सैनी से 272 ग्राम स्मैक बरामद की थी। दोनों आरोपितों ने बताया था कि वह स्मैक बरेली के रिजवान नामक व्यक्ति से लाते हैं। 27 मई को पुलिस ने रिजवान के घर दबिश दी, मगर रिजवान फरार हो गया। पुलिस ने रिजवान की पत्‍नी तबस्सुम को 108 ग्राम स्मैक व दो लाख रुपये के साथ गिरफ्तार किया था। पूछताछ के बाद पुलिस ने नौ जून को रिजवान को भी उसके घर से गिरफ्तार किया। अब पुलिस के हाथ पांच मोबाइल फोन लगे हैं, जिससे पुलिस को काफी जानकारी मिलने की उम्मीद है।

------------------------ 

सरस्वती विहार में दवा व्यापारी के घर चोरी

देहरादून के नेहरू कालोनी थाना क्षेत्र स्थित सरस्वती विहार में एक दवा व्यापारी के घर से चोरों ने सामान समेट लिया। सूचना मिलने के बाद मंगलवार को पुलिस मौके पर पहुंची और साक्ष्य जुटाए। बताया जा रहा है कि घर से कैश चोरी हुआ है। इंस्पेक्टर राकेश गुसांई ने बताया कि मकान मालिक बुलंदशहर के रहने वाले हैं, जोकि अप्रैल में उत्तर प्रदेश पंचायत चुनाव के कारण अपने घर चले गए थे। मंगलवार को घर की देखरेख करने के लिए दवा व्यापारी के ससुर पहुंचे, जहां उन्होंने सामान अस्त-व्यस्त देख पुलिस को सूचित किया। पुलिस का कहना है कि मकान मालिक के आने के बाद ही चोरी हुए सामान की सही जानकारी मिल पाएगी।

यह भी पढ़ें-उत्तरकाशी में ऑनलाइन ठगी करने वाले गिरोह का भंडाफोड़, नोएडा से चार गिरफ्तार

Uttarakhand Flood Disaster: चमोली हादसे से संबंधित सभी सामग्री पढ़ने के लिए क्लिक करें

Edited By: Sunil Negi