देहरादून, जेएनएन। देहरादून में इन दिनों स्लो इंटरनेट स्पीड, कॉल ड्रॉप और क्रॉस कनेक्शन का झमेला उपभोक्ताओं के लिए सिर दर्द बना हुआ है। पिछले कुछ महीनों से लगभग सभी मोबाइल नेटवर्क राजधानी में बेलगाम हो गए हैं। कॉल किसी को की गई, तो कनेक्शन कहीं और जुड़ जाता है। आमजन को इस तरह की समस्या से दिन में कई बार जूझना पड़ रहा है। दिनोंदिन कॉल ड्रॉप का ग्राफ भी बढ़ता जा रहा है। आलम यह है कि चार-पांच बार कॉल करने पर भी बात नहीं हो पा रही है। इसके अलावा पिछले दिनों में इंटरनेट स्पीड भी लुढ़की है। इससे लोगों की मोबाइल नेटवर्क के प्रति झुंझलाहट बढ़ती जा रही है। आमजन की इस समस्या की सुध लेने के लिए कोई भी तैयार नहीं है, जबकि टेलीकॉम रेगुलेटरी अथॉरिटी ट्राइ ने कॉल ड्रॉप को लेकर पिछले साल ही स्पष्ट मानक तय किए हैं, इसमें जुर्माना भी शामिल है। 

आज के आधुनिक युग में शायद ही कोई व्यक्ति मोबाइल फोन का इस्तेमाल न कर रहा हो। ऐसे में मोबाइल फोन हमारे जीवन का अभिन्न हिस्सा बन गए हैं। भागदौड़ भरी जिंदगी में लोगों के पास एक दूसरे से मिलने का समय नहीं हैं, ऐसे में फोन कॉल ही संपर्क में बने रहने के लिए प्रमुख साधन बना हुआ है। पिछले कुछ महीनों से राजधानी देहरादून में सभी दूरसंचार कंपनियों के नेटवर्क मोबाइल उपभोक्ताओं के सब्र को झकझोर रहे हैं। नेटवर्क में आ रही लगातार समस्या के चलते उपभोक्ता बेहतर नेटवर्क का विकल्प तराशने में जुटे हैं। 

राज्य स्तर पर निगरानी नहीं, शिकायत करने में अड़चन 

वैसे तो कॉल ड्रॉप जैसी समस्या की शिकायत ट्राइ से की जा सकती है, मगर अधिकतर उपभोक्ता तकनीकी रूप से शिकायत करने में अक्षम नजर आते हैं। या उन्हें यह झंझटभरा काम लगता है। दूसरी ओर राज्य स्तर पर ऐसी कोई सरकारी विंग नहीं है, जहां लोग अन्य शिकायतों की तरह मोबाइल नेटवर्क की शिकायत भी दर्ज करा सकें। अधिकतर लोगों को दूरसंचार कंपनियों के स्थानीय कार्यालयों तक की जानकारी नहीं हो पाती और ले-देकर उन्हें कंपनियों के स्टोर के बारे में ही पता होता है। 

यहां से उन्हें समाधान नहीं मिल पाता और उपभोक्ताओं को कस्टमर केयर का पता बता दिया जाता है। कस्टमर केयर में भी लंबे इंतजार के बाद ग्राहक सेवा अधिकारी से बात हो पाती है और उनसे लंबे चौड़े सवाल किए जाते हैं। जैसे-घर पर दिक्कत आ रही है या ऑफिस में, फिर कहा जाता है कि हमारे सिस्टम में तो सब ठीक दिख रहा है। कई दफा बात आगे बढ़ने पर एक-दो दिन का समय दिया जाता है और परेशानी दूर करने का दावा कर शिकायत को बंद कर दिया जाता है। 

ट्राई के 'माय कॉल' एप पर करें शिकायत 

उपभोक्ताओं के लिए अच्छी बात है कि वह मोबाइल नेटवर्क संबंधी शिकायत को ट्राइ के 'माय कॉल' एप में दर्ज करा सकते हैं। मोबाइल के प्ले स्टोर से इस एप को डाउनलोड करें और अपनी समस्या से ट्राई को अवगत कराएं। 

शिकायत मिलने पर होगा तुरंत समाधान 

एयरटेल के कॉरपोरेट कम्युनिकेशन हेड श्रीनिवासन ने कहा कि एयरटेल की ओर से नेटवर्क में सुधार किया जा चुका है। शहर में अगर कहीं से भी शिकायत मिलती है तो उस पर तत्काल सुनवाई की जा रही है। 

क्षेत्रवार आ रही है दिक्कत 

बीएसएनएल के डीजीएम पीके शर्मा ने बताया कि सामान्य रूप से नेटवर्क की दिक्कत नहीं आ रही है। उपभोक्ता को जिस भी क्षेत्र में समस्या आ रही है उसकी जानकारी दें, उनकी समस्या को दूर किया जाएगा। 

यह भी पढ़ें: देहरादून में अब रात के समय भी गश्त करेगी पीएसी, 18 प्वाइंट चिह्नित

ट्राई और अन्य स्पीड टेस्ट एप में समानता नहीं 

आजकल मोबाइल फोन में इंटरनेट स्पीड की जांच करने के लिए कई तरह की एप बन गई है। इसमें ट्राइ की 'ट्राइ माई स्पीड' एप भी शामिल है। इसके अलावा प्ले स्टोर पर अन्य कई एप भी उपलब्ध हैं। इसमें हैरानी की बात यह है कि ट्राइ स्पीड टेस्ट एप और अन्य स्पीड टेस्ट एप में समानता नहीं है। उदाहरण के लिए अगर कोई व्यक्ति एक ही स्थान पर खड़े होकर ट्राइ माई स्पीड एप और अन्य स्पीड टेस्ट एप से इंटरनेट स्पीड की जांच करता है, तो दोनों के परिणाम अलग-अलग आते हैं। ऐसे में एप की गुणवत्ता पर तो सवाल उठता ही है, साथ ही ये सवाल यह भी है कि आखिर किस एप को सही माना जाए। 

यह भी पढ़ें: देहरादून में अब और तेज होगी 'तीसरी आंख की नजर', पढ़िए पूरी खबर

मोबाइल नेटवर्क का हाल 

जियो नेटवर्क 

डाउनलोड स्पीड: 4.1 एमबीपीएस, 40 केबीपीएस 

अपलोड स्पीड: 4.76 एमबीपीएस, 428 केबीपीएस 

आइडिया नेटवर्क 

डाउनलोड स्पीड: 10.33 एमबीपीएस, 156 केबीपीएस 

अपलोड स्पीड: 11.55 एमबीपीएस, 14 केबीपीएस 

वोडाफोन नेटवर्क 

डाउनलोड स्पीड: 0.43 एमबीपीएस, 82 केबीपीएस 

अपलोड स्पीड: 1.58 एमबीपीएस, 7 केबीपीएस 

एयरटेल नेटवर्क 

डाउनलोड स्पीड: 0.05 एमबीपीएस, 141 केबीपीएस 

अपलोड स्पीड: 0.04 एमबीपीएस, 2.39 एमबीपीएस 

यह भी पढ़ें: भटक और अटक रहे मोबाइल नेटवर्क, परेशान हो रहे उपभोक्‍ता Dehradun News

Posted By: Raksha Panthari

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप