देहरादून, [जेएनएन]: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के 'स्वच्छ भारत' अभियान का असर अब घर की रसोई में भी देखने को मिलेगा। मुहिम से आम गृहणी को जोड़ते हुए सरकार ने घरेलू सिलेंडर पर भी 'स्वच्छ भारत' के पोस्टर चस्पा करने के निर्देश दिए हैं। दून में इसकी शुरुआत भी हो चुकी है। 

केंद्र सरकार की पहल पर देशभर में स्वच्छता अभियान चलाया जा रहा है। इसी कड़ी में सरकार ने अब घर की रसोई तक जागरूकता के प्रसार का निर्णय लिया है। इसके लिए घरेलू गैस सिलेंडरों पर एजेंसियों की ओर से पोस्टर चस्पा किए जा रहे हैं।

इन पर लिखा गया है कि 'अपने घर का गीला व सूखा कूड़ा अलग-अलग रखें और डोर-टू-डोर कूड़ा कलेक्शन में सहयोग करें'। इसके अलावा गैस एजेंसियों के डिलीवरी मैन भी उपभोक्ताओं को घर व आसपास के क्षेत्र को साफ-सुथरा रखने के लिए प्रेरित कर रहे हैं। ताकि संक्रामक बीमारियों से बचा जा सके। 

इस संबंध में तेल कंपनियों की ओर से सभी एजेंसियों को पोस्टर छपवाने के निर्देश दिए गए हैं। कुछ एजेंसियों ने तो इन पोस्टरों के साथ सिलेंडरों की आपूर्ति करनी शुरू भी कर दी है। दून एलपीजी डिस्ट्रीब्यूटर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष चमनलाल ने बताया कि इस बाबत सभी गैस एजेंसियों को अवगत कराते हुए व्यवस्था का अनुपालन शुरू कर दिया गया है।

नियमानुसार है गलत

भले ही स्वच्छता को लेकर सरकार ने सिलेंडरों पर पोस्टर चस्पा करने के निर्देश जारी कर दिए हों, लेकिन नियमानुसार यह गलत है। कंपनी के नियमों के अनुसार सिलेंडर पर किसी भी प्रकार की सामग्री चस्पा नहीं की जा सकती। क्योंकि ऐसी सामग्री को खतरनाक की श्रेणी में रखा गया है। 

यह भी पढ़ें: नमामि गंगे: अब वाराणसी की तर्ज पर चमकेंगे गंगाद्वार के घाट

यह भी पढ़ें: बिहार की बेटी गंगा और यमुना की स्वच्छता के लिए निकली साइकिल यात्रा पर

यह भी पढ़ें: साइकिल से दुनियां नाप रहे प्रदीप का गरुड़ पहुंचने पर भव्य स्वागत

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप