देहरादून, जेएनएन। दीपावली पर त्योहारी सीजन के मद्देनजर यात्रा मार्गों पर बसों में तय किमी पूरे करने पर रोडवेज चालकों व परिचालकों को निगम की तरफ से नकद राशि उपहार में दी जाएगी। दीपावली के दिन बसों पर डयूटी देने वाले कार्मिकों को अलग से प्रोत्साहन राशि मिलेगी। 

दीपावली पर बड़ी संख्या में रोडवेज चालक व परिचालक छुट्टी पर रहते हैं। कईं दफा चालक व परिचालक एक-एक हफ्ते तक भी डयूटी पर नहीं आते। ऐसे में रोडवेज द्वारा अपने कर्मियों को डयूटी पर लाने व बसों के सुचारु संचालन के लिए प्रोत्साहन राशि देने का फैसला लिया गया है। 

प्रोत्साहन राशि की योजना 24 अक्टूबर से चार नवंबर तक कुल 11 दिन लागू मानी जाएगी। महाप्रबंधक दीपक जैन ने बताया कि मैदानी मार्गों पर चालक व परिचालक को इन 10 दिनों में कुल 2420 किमी की डयूटी देनी होगी। इसके अलावा पर्वतीय व मैदानी मिश्रित मार्ग पर यह सीमा 2000 किमी होगी, जबकि पर्वतीय मार्ग पर 1800 किमी। निर्धारित किमी पूरे करने पर चालक व परिचालक को एक हजार रुपये की राशि प्रोत्साहन के रूप में मिलेगी। शर्त में एक दिन की छुट्टी मान्य होगी।

इसके अतिरिक्त 11 दिन लगातार डयूटी करने पर अलग शर्तें हैं। इन 11 दिन की डयूटी पर मैदानी मार्ग पर 2662 किमी की सीमा पूरी करने व मिश्रित मार्ग पर 2200 किमी जबकि पर्वतीय मार्ग पर 1980 किमी पूरे करने पर 1100 रुपये प्रत्येक चालक व परिचालक को दिए जाएंगे। इसमें शर्त रखी गई है कि 11 दिन में एक भी छुट्टी नहीं ली जाएगी। 

दीपावली के दिन डयूटी करने पर सौ रुपये की अतिरिक्त राशि दी जाएगी। ये योजना कार्यशाला, तकनीकी व लिपिकों आदि के लिए भी है। दस दिन डयूटी करने पर 750 रुपये मिलेंगे। बाह्य स्त्रोत कर्मी को 10 दिन डयूटी पर 500 रुपये मिलेंगे। महाप्रबंधक के अनुसार यदि 11 दिन की लगातार डयूटी में किसी नियमित कर्मी का साप्ताहिक अवकाश पड़ता है तो योजना पूरी होने के बाद उसे यह अवकाश दिया जाएगा। 

नई बसों की फिटनेस शुरू

रोडवेज की नई बसों की फिटनेस की प्रक्रिया शुरू हो गई। रोडवेज अधिकारियों के अनुसार परिवहन विभाग के आशारोड़ी चेकपोस्ट पर बसों की फिटनेस कराई जा रही है। अब इन बसों का पंजीकरण शुरू हो जाएगा। नंबर मिलते ही बसों को रूटों पर भेजा जाएगा। 

ग्रेड पे को लेकर सीएम से मिले राजकीय वाहन चालक

राजकीय वाहन चालक महासंघ के हाई पावर प्रतिनिधि मंडल ने मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत से मुलाकात कर चालकों के वेतन में 2400 ग्रेड पे इग्नोर करने समेत कई मांगों को पूरा करने की मांग की।

संघ के प्रदेश महामंत्री संदीप कुमार मौर्य के नेतृत्व में प्रतिनिधि मंडल ने मुख्यमंत्री से मुलाकात की। उन्होंने सीएम को ज्ञापन सौंप कर वाहन चालकों के वेतन का ग्रेड पे समूह ग संवर्ग की तर्ज पर 2000 के बाद 2400 इग्नोर कर सिर्फ 2800, 4200, 4600 करने का शासनादेश जारी करने समेत अन्य समस्याओं के निस्तारण की मांग की। 

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड में जल्द कैशलैस होगा परिवहन विभाग, लगेंगी स्वाइप मशीनें

उन्होंने बताया कि चालक लगातार शासन को मांग पत्र सौंप रहे हैं लेकिन कोई सुनवाई नहीं हो रही है। इस पर सीएम ने आश्वासन दिया कि वित्त सचिव के विदेश दौरे से लौटने के बाद वार्ता कर समस्याओं का समाधान किया जाएगा। प्रतिनिधि मंडल में सबर सिंह रावत, महेश चंद्र जोशी, शामिल रहे।

यह भी पढ़ें: दीपावली के बाद आएंगी रोडवेज की 150 नई बसें, पढ़िए पूरी खबर

Posted By: Bhanu

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस