Move to Jagran APP

दून की सड़कों पर गड्ढों के ऊपर से हो रहा सफर

शहर के आधे हिस्से में अभी भी लोग गड्ढों वाली सड़क पर सफर कर रहे हैं। इसमें शहर के बाहरी क्षेत्र तथा ग्रामीण इलाकों की सड़कों की स्थिति ज्यादा खराब है।

By BhanuEdited By: Published: Tue, 02 Oct 2018 11:39 AM (IST)Updated: Tue, 02 Oct 2018 01:27 PM (IST)
दून की सड़कों पर गड्ढों के ऊपर से हो रहा सफर

देहरादून, [जेएनएन]: इन्वेस्टर्स समिट के चलते डोईवाला से रायपुर के बीच की सड़कें चमकने लगी हैं। इन सड़कों पर युद्धस्तर पर कार्य चल रहा है। वहीं, शहर के आधे हिस्से में अभी भी लोग गड्ढों वाली सड़क पर सफर कर रहे हैं। इसमें शहर के बाहरी क्षेत्र तथा ग्रामीण इलाकों की सड़कों की स्थिति ज्यादा खराब है। इन सड़कों पर फिलहाल लोनिवि की नजरें नहीं पड़ी हैं।

राजधानी में आयोजित होने वाले इन्वेस्टर्स समिट के लिए देहरादून और टिहरी जनपद की करीब 18 सड़कों पर सुधार कार्य होना है। इसके लिए लोक निर्माण विभाग और राष्ट्रीय राजमार्ग खंड को 13.41 करोड़ का बजट दिया गया है। इस बजट से सड़कों पर पैचवर्क, पेंटिंग, सौंदर्यीकरण और रंगाई-पुताई का कार्य शुरू हो गया है। 

डोईवाला हवाई अड्डा से रायपुर के बीच मुख्य हाईवे और लिंक मार्ग पर युद्धस्तर पर कार्य चल रहा है। इससे यहां अधिकांश सड़कें चमकने लगी हैं। इससे इन सड़कों पर सफर सुहाना हो गया है। 

इसके विपरीत शहर के प्रेमनगर, बंजारावाला, दून यूनिवर्सिटी रोड, मोहकमपुर माजरी, दीपनगर, राजपुर क्षेत्र, नेशविला रोड, कालिदास रोड, हाथीबड़कला रोड आदि कई इलाकों में सड़कों की स्थिति जस की तस है। यहां सड़कों पर गड्ढे दुर्घटना को न्योता दे रहे हैं। 

इसके अलावा ग्रामीण इलाकों में विकासनगर, कालसी, चकराता, ऋषिकेश क्षेत्र की कई सड़कें भी बदहाल हैं। इन सड़कों पर धूल, मिट्टी और गड्ढे दुर्घटना को न्योता दे रहे हैं।

गली और मोहल्ले के सड़कों पर गड्ढे 

बारिश थमने के बाद मुख्य मार्ग और लिंक मार्गों पर जहां गड्ढे भरने का काम शुरू हो गया है। वहीं गली और मोहल्ले की सड़कों की स्थिति बेहद खराब है। खासकर एमडीडीए और नगर निगम की बनाई गई सड़कें जगह-जगह दुर्घटना को न्योता दे रही हैं। इन सड़कों पर सुरक्षा के फिलहाल कोई इंतजाम नहीं किए जा रहे हैं। 

करनपुर स्थित गुरुद्वारा रोड निवासी राजेश गुरुभाई, सीमेंट रोड के नरेंद्र सिंह, पटेलनगर के सतीश पंवार, कारगी के संजय नेगी आदि का कहना है कि मुख्य सड़कों के बाद अब गली-मोहल्ले की सड़कों के गड्ढे जानलेवा साबित होने लगे हैं।

बिजली और टेलीफोन के पोल भी चमके 

इन्वेस्टर्स समिट को लेकर शहर के बिजली के पोल भी चमकने लगे हैं। पहली बार शहर में बिजली के पोल पर रंगाई-पुताई का कार्य चल रहा है। इससे सहारनपुर रोड से लेकर राजपुर रोड तक जंग खा रहे बिजली के पोल चमकने लगे हैं। हालांकि बिजली और टेलीफोन के पोल पर तारों के गुच्छे सुंदरता में दाग लगा रहे हैं। जिनको हटाने की फिलहाल कोई कार्रवाई नहीं हुई है।

समय पर काम करना चुनौती 

लोनिवि के अधीक्षण अभियंता आरसी अग्रवाल के अनुसार समय पर काम करने की चुनौती जरूर है। मगर, गुणवत्ता से कोई समझौता नहीं होगा। इसके लिए संबंधित डिविजन के अभियंताओं को कार्य की मॉनिटरिंग के निर्देश दिए गए हैं। जल्द सड़कों का निरीक्षण किया जाएगा। 

अजबपुर फाटक पर आरओबी के गार्डर की टेस्टिंग शुरू

हरिद्वार बाईपास पर अजबपुर फाटक पर बन रहे आरओबी पर गार्डर चढ़ाने की तैयारियां लगभग पूरी हो गई हैं। इन दिनों गार्डर की टेस्टिंग की जा रही है। यह काम पूरा होते ही रेलवे से दो घंटे का ब्लॉक लेकर गार्डर चढ़ा दिए जाएंगे। 

राष्ट्रीय राजमार्ग खंड डोईवाला की ओर से हरिद्वार रोड स्थित अजबपुर रेलवे फाटक पर रेलवे ओवरब्रिज बनाया जा रहा है। फाटक के दोनों ओर आरओबी का कार्य जारी है। पिछले दिनों फाटक पर अंडरपास बनाया गया। अब आरओबी पर फाटक के ऊपर गार्डर चढ़ाए जाने हैं। 

इसके लिए राष्ट्रीय राजमार्ग खंड ने गार्डर तैयार कर लिए हैं। रेलवे से ब्लॉक की अनुमति भी मिल गई थी। मगर, इससे पहले रेलवे के सीनियर इंजीनियरों की टीम गार्डर पर लगाए गए नट-बोल्ट की मजबूती की परख करने में जुटी है। रविवार शाम से यह कार्य चल रहा है। सोमवार को भी इंजीनियरों ने जांच की। 

राष्ट्रीय राजमार्ग के अधिशासी अभियंता ओपी सिंह ने बताया कि जल्द गार्डर चढ़ाए जाने हैं। इससे पहले गार्डरों की जांच जरूरी है। रेलवे की हरी झंडी मिलते ही इस कार्य को पूरा किया जाएगा। 

सांसद ने मोहकमपुर में अंडरपास बनाने के दिए निर्देश

हरिद्वार सांसद एवं पूर्व मुख्यमंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने राष्ट्रीय राजमार्ग खंड के विभिन्न प्रोजेक्ट का निरीक्षण किया। साथ ही उन्होंने मोहकमपुर फाटक पर अंडरपास बनाने के निर्देश दिए गए। हरिद्वार हाईवे की खराब हालत पर नाराजगी भी जाहिर की। 

हरिद्वार सांसद ने सोमवार को डाटकाली में निर्माणाधीन सुरंग, मोहकमपुर, अजबपुर रेलवे ओवर ब्रिज, आइएसबीटी फ्लाईओवर आदि प्रोजेक्ट का निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने मोहकमपुर आरओबी और डाटकाली सुरंग को शीघ्र जनता की आवाजाही के लिए खोलने के निर्देश दिए। 

उन्होंने डाटकाली से लेकर आइएसबीटी, रिस्पना के बीच और मोहकमपुर तक सड़कों पर जगह-जगह गड्ढे होने पर नाराजगी जाहिर की। मोहकमपुर में आइआइपी केंद्रीय विद्यालय के छात्र-छात्राओं को आरओबी बनने के बाद आवाजाही में होने वाली दिक्कतों के बारे में बताया गया। 

इस पर सांसद ने अंडरपास बनाने के निर्देश दिए। इस मौके पर सांसद प्रतिनिधि महेश पांडे, अनंत सागर, राजेश कंबोज, राजकुमार, पुष्कर चौहान, महराज रावत, अन्य मौजूद रहे। 

मोहकमपुर आरओबी पर चार से आवाजाही 

इन्वेस्टर समिट को देखते हुए राष्ट्रीय राजमार्ग खंड ने उद्घाटन से पहले ही मोहकमपुर आरओबी और डाटकाली सुरंग पर आवाजाही का निर्णय लिया है। एनएच के मुख्य अभियंता हरिओम शर्मा ने बताया कि चार अक्टूबर को दोनों प्रोजेक्ट जनता की सुविधा के लिए खोल दिए जाएंगे। 

उद्घाटन का शेड्यूल तय होने पर दोबारा कुछ घंटों के लिए बंद करने के बाद खोल दिए जाएंगे। फिलहाल इन्वेस्टर समिट और जनता की मांग को देखते हुए आवाजाही कराई जाएगी। 

यह भी पढ़ें: इन्वेस्टर समिट के लिए 13 करोड़ से संवरेगी दून की 18 सड़कें 

यह भी पढ़ें: हादसों के लिहाज से 1115 स्थान पर खतरनाक हैं उत्तराखंड की सड़कें

यह भी पढ़ें: दस दिन नहीं चला दून की सड़क पर बीस लाख का ट्रीटमेंट


This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.