ऋषिकेश, [जेएनएन]: केंद्रीय कृषि मंत्री राधा मोहन सिंह का कहना है कि प्रधानमंत्री मोदी और केंद्र सरकार गांव, गरीब और किसानों के हितैषी हैं। उनका कहना है कि किसानों को मजबूत बनाने के लिए जल्द ही दूध के निर्यात के लिए कदम उठाने जा रहे हैं। 

केंद्रीय कृषि मंत्री राधामोहन सिंह श्यामपुर में पशुपालन विभाग के अंतर्गत सोर्टेड सीमेन उत्पादन प्रयोगशाला का शिलान्यास करने पहुंचे। इस दौरान उन्होंने कहा कि जबतक किसान की स्थिति में सुधार नहीं होगा तब तक देश का विकास नहीं हो सकता है। केंद्र सरकार इस दिशा में तेजी से काम कर रही है। उन्होंने कहा कि चार साल में सतत उत्पादकता और जैविक खेती का विकास हुआ है।

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि ग्रामीण परिवारों की आमदनी बढ़ाने के लिए राज्य सरकार बेहद अच्छा काम कर रही है। यही कारण है कि पूरे देश में उत्तराखंड पहला ऐसा राज्य होगा जहां मादा गोवंश के लिए इस तरह की प्रयोगशाला स्थापित होती हैं। 

इस दौरान सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा कि पशुलोक में गौ विज्ञान तकनीकी संस्थान का शिलान्यास उन्होंने कृषि मंत्री के रूप में किया था। अब इस कार्य को आगे बढ़ाया जाएगा। 2021 के कुंभ से पूर्व हम सड़कों पर घूमने वाले गोवंश को उचित स्थान पर पहुंचाने का काम करेंगे। गोवंश सड़कों पर ना दिखे इसके पुख्ता इंतजाम किए जा रहे हैं। उनका ये भी कहना है कि सरकार देसी नस्ल की गायों में दूध उत्पादकता बढ़ाने की दिशा में गंभीरता से कार्य कर रही है। साल 2022 तक दुग्ध उत्पादन को दोगुना करने में हम अवश्य सफल होंगे। राज्य में पशुपालक और पशुओं की हालत में सरकार सुधार लाएगी।

कार्यक्रम में विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल, सांसद रमेश पोखरियाल निशंक, पशुपालन राज्यमंत्री रेखा आर्य, उच्च शिक्षा और सहकारिता राज्यमंत्री धन सिंह रावत, पशुपालन विभाग के निदेशक डॉ के के जोशी ने भी विचार व्यक्त किए। 

यह भी पढ़ें: सख्त लहजे में बोले भट्ट, विकास में डाला खलल तो होगी कड़ी कार्रवार्इ

यह भी पढ़ें: प्रीतम सिंह का मोदी सरकार पर वार, जानिए क्या बोले

यह भी पढ़ें: बिहार में जेडीयू को बड़ा भाई नहीं मानेगी भाजपा: छेदी पासवान

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस