जागरण संवाददाता, ऋषिकेश। राष्ट्रपति राम नाथ कोविन्द और उनकी पत्नी सविता कोविन्द की विशेष मांग पर रात्रि भोज में पहाड़ी झंगोरा की खीर परोसी गई, जो उन्हें काफी भायी। आपको बता दें कि राष्ट्रपति उत्तराखंड के दो दिवसीय दौरे पर हैं, जहां दौरे के पहले दिन उन्होंने पतंजलि के दीक्षा समारोह में हिस्सा लेने के साथ ही ऋषिकेश के परमार्थ निकेतन में गंगा आरती में हिस्सा लिया।

राष्ट्रपति राम नाथ कोविन्द अपनी पत्नी सविता कोविन्द के साथ परमार्थ आश्रम में रात्रि प्रवास के लिए रुके। रविवार की शाम जब राष्ट्रपति परमार्थ निकेतन पहुंचे तो उन्हें नाश्ते में ढोकला, पकौड़ी, पोहा, नारियल पानी, गुजराती व्यंजन चना आटा और चावल से तैयार चकरी परोसी गई। परमार्थ निकेतन के अध्यक्ष स्वामी चिदानंद सरस्वती की देखरेख में राष्ट्रपति की मेजबानी को लेकर तमाम तैयारी की गई।

उनके लिए भोजन बनाने की जिम्मेदारी सेविका रेखा मशरूवाला को सौंपी गई थी। राष्ट्रपति के साथ आए दो कुक रसोई में मौजूद रहे। राष्ट्रपति और उनकी पत्नी के लिए तैयार किए गए सभी प्रकार के व्यंजन की पहले जांच की गई और फिर परोसे गए। सेविका रेखा मशरूवाला ने बताया कि राष्ट्रपति के लिए भोजन तैयार करने से पहले उनके साथ आए कुक से पसंद के बारे में बात कर ली गई थी, जिसमें पहाड़ के व्यंजन झंगोरा की खीर को विशेष रूप से तैयार करने को कहा गया था।

उन्होंने बताया कि राष्ट्रपति और उनकी पत्नी को रात्रि के भोजन में झंगोरा की खीर, गुलाब जामुन, सांगरी की सब्जी, टिंडा की सब्जी, मसूर की दाल, मूंग की दाल, भूरे चावल, तवा रोटी, पालक पनीर, आलू और बींस की सब्जी, केले की सब्जी, खिचड़ी परोसी गई। उन्होंने हर व्यंजन का स्वाद लिया। राष्ट्रपति और उनकी पत्नी के लिए सोमवार की सुबह नाश्ते का भी विशेष प्रबंध किया गया है। नाश्ते में पोहा, मूंग की दाल का हलवा, नमकीन सेवइयां, इडली, सांभर, नारियल चटनी परोसी जाएगी।

यह भी पढ़ें- राष्ट्रपति कोविन्द करेंगे एशिया के पहले बाल्टिक सांस्कृतिक अध्यययन केंद्र का अवलोकन, लगाएंगे रुद्राक्ष का पौधा

Edited By: Raksha Panthri