देहरादून, राज्य ब्यूरो। जिला पंचायतों के अध्यक्ष, उपाध्यक्ष और क्षेत्र पंचायतों के प्रमुख, ज्येष्ठ व कनिष्ठ उप प्रमुखों के चुनाव की प्रक्रिया शनिवार को नामांकन दाखिल करने के साथ ही प्रारंभ हो गई। जांच के बाद इन पदों के लिए 537 प्रत्याशी मैदान में रह गए हैं, जबकि 62 निर्विरोध निर्वाचित घोषित कर दिए गए। दो नामांकन रद किए गए। निर्विरोध निर्वाचित प्रतिनिधियों में चार जिपं अध्यक्ष, तीन जिपं उपाध्यक्ष, 20 क्षेत्र पंचायत प्रमुख, 15 ज्येष्ठ उपप्रमुख व 20 कनिष्ठ उपप्रमुख शामिल हैं। नैनीताल, ऊधमसिंहनगर, चंपावत व पिथौरागढ़ जिलों में निर्विरोध निर्वाचित चारों जिला पंचायत अध्यक्ष पद भाजपा की झोली में गए। निर्विरोध चुने गए क्षेत्र पंचायत प्रमुखों में 16 भाजपा और चार कांग्रेस के हैं।

हरिद्वार को छोड़ राज्य के शेष 12 जिलों में जिला पंचायतों के अध्यक्ष, उपाध्यक्ष और क्षेत्र पंचायतों के प्रमुख, ज्येष्ठ व कनिष्ठ उपप्रमुख पदों के चुनाव के लिए शनिवार सुबह 10 से दोपहर बाद तीन बजे तक नामांकन दाखिल किए गए। इसके बाद साढ़े तीन बजे से नामांकन पत्रों की जांच हुई और देर शाम को अंतिम सूची जारी कर दी गई।

राज्य निर्वाचन आयोग से मिली जानकारी के अनुसार जिला पंचायत अध्यक्ष पदों के लिए कुल 23 नामांकन हुए। चार जिलों ऊधमसिंहनगर, चंपावत, नैनीताल व पिथौरागढ़ में एक-एक नामांकन होने से जिपं अध्यक्ष निर्विरोध निर्वाचित घोषित किए गए। इसी प्रकार उपाध्यक्ष पदों पर 28 नामांकन हुए, जिनमें चंपावत, नैनीताल व देहरादून में निर्विरोध निर्वाचन हुआ।

89 क्षेत्र पंचायतों के प्रमुख पदों के लिए 175 नामांकन हुए। इनमें एक जांच में रद कर दिया गया, जबकि 20 पदों पर निर्विरोध निर्वाचन हुआ। ज्येष्ठ उपप्रमुख पदों पर 189 नामांकन हुए, जिसमें 15 निर्विरोध चुने गए। कनिष्ठ उपप्रमुख पदों पर 186 प्रत्याशियों ने पर्चे दाखिल किए। जांच में एक नामांकन रद हुआ, जबकि 20 पदों पर निर्विरोध निर्वाचन हुआ।

यह भी पढ़ें: पंचायत चनाव: नामांकन शुल्क और जमानत राशि नकद जमा कराएंगे प्रत्याशी

निर्विरोध चुने गए चारों जिला पंचायत अध्यक्ष भाजपा की झोली में गए। इनमें बेला तोलिया (नैनीताल), रेनू गंगवार (ऊधमसिंहनगर), ज्योति राय (चंपावत) व दीपिका बोरा (पिथौरागढ़) शामिल हैं। भाजपा के प्रदेश मीडिया प्रमुख डॉ.देवेंद्र भसीन के अनुसार विभिन्न जिलों में निर्विरोध चुने गए क्षेत्र पंचायत प्रमुखों में 16 भाजपा के हैं। उधर, कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह ने दावा किया कि निर्विरोध चुने गए क्षेत्र पंचायत प्रमुखों में चार कांग्रेस के हैं। उधर, मैदान में डटे प्रत्याशियों ने प्रचार अभियान तेज कर दिया है। प्रमुखों का चुनाव छह नवंबर और जिपं अध्यक्ष, उपाध्यक्ष का चुनाव सात नवंबर को होगा।

यह भी पढ़ें: भाजपा नेता रागिनी ने लगाया उपेक्षा का आरोप, निर्दलीय लडेंगी ब्लॉक प्रमुख का चुनाव

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप