देहरादून, राज्य ब्यूरो। त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव (हरिद्वार जिले को छोड़कर) के लिए नामांकन प्रक्रिया शुरू हो चुकी है, लेकिन पहले दो दिन में प्रत्याशियों में खास उत्साह नजर नहीं आया। राज्य निर्वाचन आयोग के आंकड़े इसकी तस्दीक कर रहे हैं। कुल 66399 पदों के लिए अभी तक सिर्फ 7978 उम्मीदवारों ने नामजदगी के पर्चे दाखिल किए हैं। ऐसे में नामांकन के लिए शेष रह रह गए अगले दो दिन, यानी सोमवार और मंगलवार को प्रत्याशियों का रेला उमडऩा तय है। यह मशीनरी के लिए भी चुनौती है। साथ ही उम्मीदवारों और उनके समर्थकों को खूब पसीना बहाना पड़ेगा।

पंचायत चुनाव के लिए नामांकन की प्रक्रिया 20 सितंबर से प्रारंभ हुई, लेकिन पहले दिन केवल 1732 प्रत्याशियों ने नामांकन पत्र दाखिल किए। अलबत्ता, अगले दिन 21 सितंबर को इसमें तेजी आई और 6246 प्रत्याशियों ने नामजदगी के पर्चे भरे। 22 सितंबर को रविवार होने के कारण अवकाश था। आयोग से मिली जानकारी के अनुसार दो दिनों में अल्मोड़ा जिले में 635, ऊधमसिंहनगर में 1877, चंपावत में 280, नैनीताल में 541, पिथौरागढ़ में 911, बागेश्वर में 567, उत्तरकाशी में 338, चमोली में 638, देहरादून में 765, पौड़ी में 467 और रुद्रप्रयाग में 323 प्रत्याशियों ने नामांकन पत्र दाखिल किए। ऐसे में नामांकन के लिए शेष रह गए दो दिनों 23 सितंबर व 24 सितंबर को नामांकन पत्र दाखिल करने को मारामारी मचना तय है। यह मशीनरी के लिए भी परीक्षा की घड़ी है।

रिक्त रह सकते हैं ग्रा.पं.सदस्य पद

त्रिस्तरीय पंचायतों में सबसे अधिक 55574 पद ग्राम पंचायत सदस्य के हैं। अभी तक की तस्वीर देखें तो इनके लिए महज 2033 नामांकन ही दाखिल हुए हैं। यदि अगले दो दिनों में भी ऐसी रफ्तार रही तो ग्राम पंचायत सदस्य के पद बड़ी संख्या में रिक्त रह सकते हैं। 

अभी तक हुए नामांकन

  • पद-------------------संख्या
  • ग्रा.पं.सदस्य----------2033
  • ग्राम प्रधान-----------3761
  • क्षे.पं.सदस्य----------1877
  • जि.पं.सदस्य-----------307

यह भी पढ़ें: कांग्रेस समर्थित 56 जिला पंचायत सदस्य हुए प्रत्याशी घोषित

एक नजर

  • 12 जिलों में हो रहे पंचायत चुनाव
  • 89 हैं इन जिलों के विकासखंड
  • 7485 हैं ग्राम प्रधानों के पद
  • 55574 ग्राम पंचायत सदस्य पद
  • 2985 हैं क्षेत्र पंचायत सदस्य पद
  • 356 हैं जिला पंचायत सदस्य पद
  • 8051 कुल मतदान केंद्रों की संख्या

 यह भी पढ़ें: पंचायत चुनाव: दो से अधिक बच्चों वालों को लेकर सुप्रीम कोर्ट पर टिकी निगाह

 

Posted By: Sunil Negi

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप