देहरादून, जेएनएन। दून में त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव की दौड़ में शामिल होने वाले 54 दावेदार नामांकन पत्रों की जांच में ही फेल हो गए। नामांकन पत्रों में खामी मिलने से इनके नामांकन रद कर दिए हैं। अभी दो दिन तक नामांकन पत्रों की जांच जारी रहेगी। इसके बाद 28 सितंबर को नाम वापसी होगी। 29 को चुनाव चिह्न आवंटन के बाद मैदान में खड़े प्रत्याशियों की स्थिति स्पष्ट हो जाएगी।

देहरादून जनपद में ग्राम प्रधान, क्षेत्र पंचायत सदस्य, जिला पंचायत सदस्य और ग्राम पंचायत सदस्य के 3986 पदों के लिए 3188 लोगों ने नामांकन किया। नामांकन के बाद नाम निर्देशन पत्रों की जांच शुरू हो गई है। पहले दिन 2370 नामांकन सही पाए गए। इस दौरान प्रधान के चार और सदस्य ग्राम पंचायत के लिए 50 नामांकन पत्र में खामी मिलने पर निरस्त किए गए। 

जिलाधिकारी सी रविशंकर ने बताया कि अभी दो दिन और नामांकन पत्रों की जांच जारी रहेगी। इसके लिए सभी ब्लाकों में टीमें तैनात की गई हैं। नामांकन पत्रों की जांच के बाद 28 सितंबर को नाम वापसी होगी। 29 सितंबर को चुनाव चिह्न आवंटन किया जाएगा। 

इसके बाद मैदान में खड़े प्रत्याशियों की स्थिति स्पष्ट हो जाएगी। उन्होंने बताया कि पहले चरण के चुनाव पांच अक्टूबर को होंगे। इससे पहले बूथों का निर्धारण और पोलिंग पार्टियां भी तैयार की जाएंगी।

मतदाता सूची में नाम न होने की शिकायत

त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में भी बड़ी संख्या में लोगों के नाम मतदाता सूची से गायब हैं। नामांकन के बाद जैसे ही गांव-कस्बों में सूची पहुंची तो लोग नाम न होने से सीधे पंचस्थानी कार्यालय पहुंच रहे हैं। हर दिन 40 से 80 लोग यहां पहुंच रहे हैं। 

यह भी पढ़ें: पंचायत चुनावः दून में अंतिम दिन 3188 प्रत्याशियों ने भरे नामांकन पर्चे Dehradun News

हालांकि नामांकन के अंतिम दिन तक ही सूची में नाम दर्ज होने थे, लेकिन लोग अभी भी अपना नाम दर्ज कराने की मांग कर रहे हैं। इससे पंचस्थानी कार्यालय के स्टाफ को खासी परेशानी उठानी पड़ रही है। यहां लोगों को समझाने में कर्मचारियों को खासी मेहनत करनी पड़ रही है।

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड में पंचायत चुनाव की सुरक्षा को तैनात होंगे 15 हजार पुलिसकर्मी

Posted By: Bhanu

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस