ऋषिकेश, जेएनएन। Namami Gange Project उत्तराखंड में गंगा को स्वच्छ और निर्मल बनाने की दिशा में एक ओर कदम बढ़ाया जा रहा है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 29 सितंबर को नमामि गंगे के तहत नौ एसटीपी का लोकार्पण करेंगे। इनमें हरिद्वार में चार, ऋषिकेश और मुनिकीरेती में तीन, गंगोत्री और बदरीनाथ मे दो एसटीपी का वर्चुअली लोकार्पण किया जाएगा। इसके लिए नोडल अधिकारियों की भी नियुक्ति कर दी गई है।      

गोमुख से गंगा सागर तक गंगा को स्वच्छ और निर्मल बनाने की योजना जल्द धरातल पर नज आएगी। उत्तराखंड में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नमामि गंगे के तहत ड्रीम प्रोजेक्ट के लोकार्पण की तारीख निर्धारित हो गई है। राष्ट्रीय स्वच्छ गंगा मिशन जल शक्ति मंत्रालय, जल संसाधन नदी विकास और गंगा संरक्षण विभाग भारत सरकार ने उत्तराखंड में नमामि गंगे परियोजना के तहत ऋषिकेश, हरिद्वार, गंगोत्री और बदरीनाथ में बने नौ एसटीपी के वर्चुअल लोकार्पण की तिथि तय कर दी गई है। 

29 सितंबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इन सभी योजनाओं का वर्चुअल लोकार्पण करेंगे। इस संबंध में सचिव पेयजल और सिंचाई उत्तराखंड शासन नितेश कुमार झा ने मंगलवार को विधिवत आदेश जारी कर इन सभी कार्यक्रमों के लिए अलग-अलग नोडल अधिकारियों की नियुक्ति कर दी है। 29 सितंबर को प्रधानमंत्री हरिद्वार में चार, ऋषिकेश और मुनिकीरेती में तीन, गंगोत्री और बद्रीनाथ में दो एसटीपी का लोकार्पण करेंगे। हरिद्वार के कार्यक्रम के लिए एसके शर्मा मुख्य महाप्रबंधक उत्तराखंड जल संस्थान, मुकेश मोहन प्रमुख अभियंता सिंचाई विभाग उत्तराखंड को नोडल अधिकारी बनाया गया है। 

यह भी पढ़ें: नमामि गंगे परियोजना की तर्ज पर निर्मल होगी यमुना, पढ़िए पूरी खबर

वहीं, ऋषिकेश के कार्यक्रम के लिए वीसी पुरोहित प्रबंध निदेशक उत्तराखंड पेयजल निगम नोडल अधिकारी बनाए गए हैं। गंगोत्री के कार्यक्रम के लिए पीसी गौड़ मुख्य अभियंता द्वितीय सिंचाई विभाग उत्तराखंड और बद्रीनाथ के कार्यक्रम के लिये केके रस्तोगी महाप्रबंधक निर्माण मंडल गंगा उत्तराखंड पेयजल निगम हरिद्वार को नोडल अधिकारी बनाया गया है।

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड को नमामि गंगे में मिल सकती है 22 करोड़ की सौगात, NMCG भेजे गए आठ प्रस्ताव

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस