जागरण संवाददाता, ऋषिकेश। कोरोना से सुरक्षा के लिए देश भर में जारी टीकाकरण महाअभियान जारी है। उत्तराखंड में इस अभियान को और तेजी देने के लिए कोविशील्ड वैक्सीन की एक लाख एक हजार 350 डोज बुधवार को देहरादून के जौलीग्रांट एयरपोर्ट पर पहुंची है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की घोषणा के मुताबिक 21 जून से विशेष रूप से 18 प्लस आयु सीमा वालों के लिए टीकाकरण महा अभियान शुरू किया गया है। प्रदेश में अभी तक प्रदेश के सभी जनपदों में कोविड से सुरक्षा के लिए वैक्सीनेशन का यह अभियान अच्छी गति पर है। इस अभियान में कोई रुकावट न आए, इसके लिए केंद्र सरकार विशेष रूप से ध्यान दे रही है। बुधवार को देहरादून के जौलीग्रांट हवाई अड्डे पर कोविशील्ड वैक्सीन की एक लाख एक हजार हजार 350 डोज इंडिगो के विमान से पहुंची है। एयरपोर्ट आथरिटी के मुताबिक वैक्सीन की यह खेप निदेशालय एमएचएफडब्ल्यू उत्तराखंड की टीम के सुपुर्द कर दी गई है, जो राज्य के विभिन्न जनपदों में भेजी जाएगी।

एक लाख 24 हजार व्यक्तियों को लगा कोरोनारोधी टीका

उत्तराखंड में टीकाकरण महाभियान के तहत पिछले तीन दिन से रोजाना एक लाख से अधिक व्यक्तियों का टीकाकरण हो रहा है। बुधवार को भी प्रदेश में 871 केंद्रों पर एक लाख 24 हजार 31 व्यक्तियों को कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए वैक्सीन लगाई गई। इसमें हर आयु वर्ग के लोग शामिल रहे। इतना जरूर है कि 18-44 आयु वर्ग के व्यक्तियों को टीकाकरण के लिए स्लाट मिल पाना अब भी मुश्किल हो रहा है। जिन केंद्रों पर वैक्सीन उपलब्ध है, वहां महज कुछ मिनट में ही स्लाट फुल हो जा रहे हैं। देहरादून व अन्य जनपदों में स्थिति लगभग एक जैसी ही है।

बहरहाल, महाभियान के दौरान जिस तरह टीकाकरण का ग्राफ बढ़ रहा है, उससे सिस्टम गदगद है। हरिद्वार में सबसे अधिक 30 हजार 516 व्यक्तियों का टीकाकरण हुआ है। ऊधमसिंह नगर में 25 हजार 43, देहरादून में 17 हजार 750 और नैनीताल में 15 हजार 684 व्यक्तियों को टीका लगा। इस तरह प्रदेश मे अब तक 31 लाख 67 हजार 934 व्यक्तियों को वैक्सीन की पहली डोज लग चुकी है। वहीं, सात लाख 45 हजार 468 का पूर्ण टीकाकरण हो चुका है।

18-44 आयु वर्ग के भी नौ लाख 79 हजार 920 व्यक्तियों को वैक्सीन की पहली खुराक लग चुकी है, जबकि 32 हजार 762 का पूर्ण टीकाकरण हो चुका है।

मसूरी में 864 व्यक्तियों का टीकाकरण

मसूरी: नगर में बुधवार को 864 व्यक्तियों का टीकाकरण किया गया। इसके अलावा बीस लोग की एंटीजन जांच की गई, जिसमें कोई भी संक्रमित नहीं पाया गया। कोविड नोडल अधिकारी डा. प्रदीप राणा ने बताया कि 150 व्यक्तियों के सैंपल आरटीपीसीआर जांच के लिए भेजे गए हैं।

यह भी पढ़ें-मोबाइल टेस्टिंग लैब पर थमे कदम, आ रहे खर्च को देखते हुए लिया निर्णय

Uttarakhand Flood Disaster: चमोली हादसे से संबंधित सभी सामग्री पढ़ने के लिए क्लिक करें

Edited By: Sunil Negi