देहरादून, जेएनएन। अल्मोड़ा जिले के द्वाराहाट से भाजपा विधायक महेश नेगी की पत्‍‌नी ने पड़ोसी महिला के खिलाफ ब्लैकमेल करने का मुकदमा दर्ज कराया है। महिला पर पांच करोड़ रुपये न देने पर विधायक को दुष्कर्म के झूठे मामले में फंसाने और बेटे को जान से मारने की धमकी देने का आरोप है। नेहरू कालोनी थाने में दर्ज मुकदमें में महिला के पति, मां और भाभी को भी नामजद किया गया है। 

पुलिस ने शुक्रवार को आरोपित महिला को थाने बुलाकर पूछताछ की। इस बीच, सोशल मीडिया पर आरोपित महिला का एक वीडियो वायरल हो रहा है, जिसमें महिला विधायक पर गंभीर आरोप लगा रही है। साथ ही अपने बच्चे के डीएनए टेस्ट की मांग कर रही है। हालांकि, पुलिस का कहना है कि आरोपित महिला की तरफ से उन्हें कोई शिकायत नहीं मिली है। थानाध्यक्ष दिलबर सिंह नेगी के अनुसार विधायक की पत्‍‌नी ने तहरीर में बताया कि आरोपित महिला द्वाराहाट में उनके पड़ोस में रहती है। वह और उसके स्वजन अपनी समस्याओं को लेकर उनके आवास पर आते रहते थे। उसकी शादी सेना में कार्यरत उत्तर प्रदेश के शामली निवासी व्यक्ति से हुई है। 

शादी के कुछ समय बाद पति से विवाद होने के कारण वह द्वाराहाट स्थित अपने घर आकर रहने लगी। इसी नौ अगस्त को आरोपित महिला ने विधायक के बेटे के मोबाइल पर फोन कर मां से बात करवाने को कहा। विधायक की पत्‍‌नी से महिला ने कहा कि उनके पति के साथ उसके संबंध रहे हैं। आरोप है कि महिला ने मामले को रफा-दफा कराने के लिए पांच करोड़ रुपये की मांग की। इसके लिए उसने विधायक की पत्‍‌नी को देहरादून आकर मिलने को कहा। थानाध्यक्ष ने रिपोर्ट के हवाले से बताया कि महिला 10 और 11 अगस्त को विधायक की पत्‍‌नी से देहरादून में अलग-अलग रेस्तरां में मिली। यहां भी उसने रुपये की मांग दोहराई। विधायक की पत्‍‌नी ने इतनी बड़ी रकम देने में असमर्थता जाहिर की तो उठकर चली गई। उसके बाद आरोपित ने वॉट्सएप पर भी कुछ संदेश भेजे। 

थानाध्यक्ष के अनुसार विधायक की पत्‍‌नी ने बताया कि जब उनके पति ने महिला से बात करनी चाही, तो उसने फोन रिसीव नहीं किया। बताया गया कि महिला इनदिनों देहरादून में अपने रिश्तेदार के घर रुकी हुई है। इस संबंध में जिला पुलिस प्रमुख डीआइजी अरुण मोहन जोशी ने बताया कि विधायक की पत्‍‌नी ने एक महिला पर ब्लैकमेलिंग का आरोप लगाया है। निष्पक्ष और पारदर्शी तरीके से मामले की जांच की जा रही है। जांच के बाद ही आगे की कार्रवाही की जाएगी। उन्होंने बताया कि आरोपित महिला की तरफ से फिलहाल कोई शिकायत पुलिस को नहीं मिली है।

कोविड टेस्ट के बहाने थाने ले गए 

सोशल मीडिया पर वायरल वीडियो में आरोपित महिला कहती सुनाई पड़ रही है कि शुक्रवार सुबह पुलिस ने उसे कोविड टेस्ट कराने के बहाने नेहरू कालोनी थाने बुलाया। वीडियो में महिला विधायक पर गंभीर आरोप लगाने के साथ ही अपनी और बच्चे की जान को खतरा होने की आशंका जता रही है। जिला पंचायत अध्यक्ष से मांगी मदद सोशल मीडिया पर महिला के नाम से जिला पंचायत अध्यक्ष अल्मोड़ा को लिखा गया पत्र भी वायरल हो रहा है। इसमें महिला ने जिला पंचायत अध्यक्ष से मदद की गुहार लगाने के साथ ही खुद को और बच्चे को न्याय दिलाने के लिए एक अधिवक्ता उपलब्ध करवाने का आग्रह किया है। इस संबंध में संपर्क करने पर महिला ने पत्र लिखने की पुष्टि की और बताया कि अधिवक्ता से विमर्श के बाद पुलिस को तहरीर देंगी।

यह भी पढ़ें: नाबालिग से दुष्कर्म के आरोपित युवक को पुलिस ने किया गिरफ्तार

द्वाराहाट विधायक महेश नेगी का कहना है कि पूरा मामला ब्लैकमेलिंग से जुड़ा हुआ है। इस साजिश में मेरठ और मुजफ्फरनगर के कुछ लोग भी शामिल हैं। मेरी पत्नी ने इस सिलसिले में देहरादून में एफआइआर दर्ज कराई है। मैं स्वयं देहरादून जा रहा हूं। वहा पहुंचकर अपना पक्ष और विस्तार से रखूंगा।

यह भी पढ़ें: विकासनगर में देह व्यापार मामले में कड़ी कार्रवाई के निर्देश, छेड़खानी के आरोपित को भेजा जेल

Posted By: Raksha Panthari

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस