देहरादून, जेएनएन। स्वास्थ्य विभाग की टीम ने शिमला बाईपास रोड स्थित नया गांव पेलियो, नाथूवाला व आसपास के क्षेत्रों में शुक्रवार को तीसरे दिन भी दौरा किया। इस दौरान टीम द्वारा क्षेत्र में डेंगू सर्वे सोर्स रिडक्शन का कार्य किया गया। जिन स्थानों पर डेंगू मच्छर का लार्वा मिला, उसको मौके पर ही नष्ट किया गया। 

शिमला बाईपास रोड स्थित नया गांव क्षेत्र में बुखार/वायरल पीड़ित 13 मरीज भी मिले, इन्हें दवा दी गई। जबकि इनमें सात डेंगू संदिग्ध मरीजों का ब्लड सैंपल लेकर जाच के लिए दून अस्पताल की लैब में भेजा गया। वहीं गत दिवस जिन सात डेंगू संदिग्ध मरीजों के ब्लड सैंपल एलाइजा जाच के लिए भेजे गये थे उनमें से किसी में भी डेंगू की पुष्टि नहीं हुई है। विभागीय टीम ने लोगों को डेंगू से बचाव की जानकारी दी। कहा कि अपने आसपास पानी एकत्र नहीं होने दें और स्वच्छता बनाये रखें। तीन दिन पहले अफवाह फैली थी कि नया गाव पेलियो में आठ सौ से अधिक लोग बीमार हैं। इनमें से अधिकाश लोगों को डेंगू होना बताया गया। इस पर स्वास्थ्य विभाग की टीम गाव में पहुंची और मौके का मुआयना किया।

यह भी पढ़ें: हरिद्वार के भगवानपुर में संदिग्ध बुखार से दो और की मौत, 30 पहुंचा आंकड़ा

टीम को 15-20 लोग ही वायरल/बुखार से पीड़ित मिले। जिन मरीजों में डेंगू के लक्षण दिखाई दिए उनके सैंपल लेकर जाच के लिए लैब भेजे गए, लेकिन जाच में स्थिति सामान्य निकली। बताया जा रहा है कि क्षेत्र में रहने वाले कुछ झोलछापों ने मामूली बुखार से भी पीड़ित मरीज को भी डेंगू का भय दिखाया। इससे क्षेत्र में अफवाह फैलने लगी।

यह भी पढ़ें: नीम हकीम खतरा-ए-जान, डेंगू नहीं फैली अफवाह Dehradun News

कुछ छुटभैय्या नेताओं ने भी इसमें आग में घी डालने जैसा काम किया। स्वास्थ्य विभाग की टीम जब मौके पर पहुंची तो ऐसा कुछ मिला नहीं जो कि क्षेत्र में महामारी का कारण बन सकता है। कुछ लोग जो बुखार या सर्दी, खासी, जुखाम से पीड़ित हैं उन्हें दवा दी गई है।

यह भी पढ़ें: स्वास्थ्य विभाग की टीम ने किया दौरा, बुखार पीड़ित मिले 12 लोग Dehradun News

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस