देहरादून, जेएनएन। सद्भावना एवं राष्ट्रीय पोषण अभियान के तहत नगर निगम सभागार में आयोजित कार्यशाला में आयोजित महापौर सुनील उनियाल ने कहा कि प्रदेश में दून को सबसे पहले प्लास्टिक मुक्त करने का लक्ष्य रखा गया है और दून नगर निगम की टीम इस लक्ष्य को पूरा कर के दिखाएगी। 

कार्यशाला का शुभारंभ महापौर सुनील उनियाल गामा और रीजनल आऊटरीच ब्यूरो के महानिदेशक एनके कौशल ने संयुक्त रूप से दीप प्रज्वलित कर किया।  इससे पहले र रीजनल आऊटरीच ब्यूरो के महानिदेशक ने कहा कि कार्यशाला का उद्देश्य केंद्र सरकार की योजनाओं को आम लोगों तक पहुंचाना है। 

स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग से डॉ कुलदीप मर्तोलिया ने कहा कि विश्व की 50 फीसद कुपोषित जनसंख्या वर्तमान में भारत में है। इससे उभरने के लिए हर स्तर पर प्रयास किए जा रहे हैं। कुपोषण दूर करने के लिए बाल विकास विभाग ने आशा कार्यकर्ताओं के माध्यम से बच्चों को आयरन की गोलियां बांटने और जागरुकता फैलाने का काम किया जा रहा है। 

कहा कि गर्भवती महिलाओं को पोषित आहार की जानकारी भी दी जा रही है। कार्यक्रम में राघवेश पांडेय, डा संतोष आशीष, राजेश सिन्हा, लाल सिंह, नत्थी सिंह समेत अन्य लोग मौजूद रहे। 

स्कूलों में जाकर बच्चों को  जागरुक करेंगे महापौर गामा

शहर में पॉलीथिन व प्लॉस्टिक के विरुद्ध चलाए जा रहे अभियान के तहत अब महापौर सुनील उनियाल गामा विभिन्न स्कूलों में बच्चों को जागरुक करेंगे। रोजाना स्कूलों में जाकर वे बच्चों को प्लॉस्टिक का इस्तेमाल न करने की शपथ भी दिलाएंगे। सुबह प्रार्थना सभा के दौरान वे स्कूलों में बच्चों को प्लॉस्टिक से होने वाली बीमारियों पर भी जानकारी देंगे। 

महापौर ने बताया कि छात्र-छात्राएं ही समाज का आइना हैं। आज का युवा पहले की अपेक्षा काफी जागरूक है। युवाओं के सहयोग से प्लॉस्टिक पूरी तरह से बंद हो सकता है। नगर निगम के इस अभियान में व्यापारियों व अन्य वर्गों के लोगों का पूरा सहयोग मिल रहा है। 

अभियान केवल दो अक्तूबर तक नहीं, बल्कि तब तक चलेगा जब तक प्लॉस्टिक का इस्तेमाल पूरी तरह बंद नहीं हो जाता। वहीं, इस अभियान के तहत महापौर ने गांधीग्राम के जगदंबा प्रसाद नत्थूराम जूनियर हाइस्कूल का निरीक्षण किया व बच्चों को प्लॉस्टिक का इस्तेमाल नहीं करने की शपथ दिलाई। बच्चों से आह्वान किया कि अपने घरों से पॉलिथीन और प्लास्टिक को हटाएं। साथ ही लोगों को भी जागरूक करें। 

उन्होंने कहा कि सबसे ज्यादा पॉलिथीन व प्लॉस्टिक को दान देने वाले स्कूलों को नगर निगम एक लाख रुपये का इनाम देगा। महापौर ने इस दौरान सुपरवाइजर चंद्रपाल सिंह को भी पुरस्कृत किया। 

यह भी पढ़ें: नगर निगम ने दान में मांगी प्लास्टिक, मिली 40 किलो Dehradun News

35 किलो पॉलीथिन मिली दान 

पॉलीथिन दान को लेकर चलाए जा रहे अभियान में शुक्रवार को वार्ड 41 से वार्ड 60 तक अभियान चलाया गया। जिसमें 35 किलो पॉलीथिन व प्लॉस्टिक लोगों ने दान दी। लोगों ने प्लॉस्टिक इस्तेमाल नहीं करने की शपथ भी ली। पॉलीथिन व प्लॉस्टिक दान अभियान 20 सितंबर तक चलेगा।

यह भी पढ़ें: प्लास्टिक कचरे पर 10 नामी कंपनियों को भेजा नोटिस, पढ़िए पूरी खबर

Posted By: Bhanu

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप