देहरादून, जेएनएन। जिस मकान के ढहने के कारण चार लोगों की मौत हुई, वह मकान खतरे की जद में था। यही कारण था कि रायपुर में रह रहे मकान मालिक पंकज मैसी ने कुछ दिन पहले ही दोनों किरायेदारों को घर खाली करने को भी कहा था। पंकज मेसी ने बताया कि मकान के पीछे स्लैब में दरार आ गई थी, जिसकी उन्हें मरम्मत करवानी थी। इसलिए उन्होंने कुछ समय पहले दोनों किरायेदारों को पहले ही मकान खाली करने को कह दिया था।

पंकज मैसी ने बताया कि सोमवार को वह किरायेदार विरेंद्र सिंह और समीर चौहान से मिलने आए थे। वह दोनों से लिखित में लेना चाहते थे कि यदि कोई दुर्घटना होती है तो वह खुद ही जिम्मेदार होंगे। लेकिन दोनों घर पर नहीं थे तो वह कागज स्वजनों को पकड़ाकर चले आए थे। उन्होंने बताया कि प्रॉपर्टी डीलर ने पुश्ते के अंदर ही सीवर का चैंबर डाल दिया, जिसके कारण पानी पुश्ते में जाने लगा। शायद यही कारण रहा कि पुश्ता ढह गया।मलबे में एक कार भी दबी

मकान के ऊपर पुश्ता गिरने के कारण सड़क पर खड़ी कार भी मलबे में दब गई। गली संकरी होने के कारण कार मालिक मकान के बाहर ही अपनी कार खड़ी कर लेता था। बाद में जेसीबी से मलबा हटाकर कार को निकाला गया।

पड़ोस के घर में भी घुसा मलबा 

पुश्ता गिरने से जो मकान ढहा, उसके पड़ोस वाले मकान भी खतरे की जद में आ गए हैं। बगल में ही सिद्धार्थ धस्माना का मकान है, वहां भी दो कमरों में मलबा घुसा। सिद्धार्थ ने बताया कि उन्होंने प्रॉपर्टी डीलर को आगाह किया था।

 यह भी पढ़ें: देहरादून में तेज बारिश से मकान के ऊपर गिरा पुश्ता, मलबे में दबने से गभर्वती समेत चार की मौत

पीडब्ल्यूडी की टीम ने किया दौरा

इंद्रा कॉलोनी में मकान ढहने की सूचना मिलने के बाद पीडब्ल्यूडी के इंजीनियरों ने भी मौके का जायजा लिया। इसके अलावा टीम ने जहां प्लॉटिंग की जा रही है, वहां भी सर्वे किया। उन्होंने बताया कि जांच के बाद रिपोर्ट उच्चाधिकारियों को भेजी जाएगी। इसके लिए टीम ने तैयारी भी शुरू कर दी है।

यह भी पढ़ें: गहरी नींद में थे दो परिवार और अचानक हुआ एक धमाका, फिर सब कुछ खत्म

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021