जागरण संवाददाता, हरिद्वार: केरल के राज्यपाल आरिफ मोहम्मद खान ने रानीपुर झाल स्थित श्री स्वामी भूमानंद हास्पिटल में कार्डियक कैथ लैब के अलावा आपातकालीन विभाग में आइसीयू वार्ड का उद्घाटन भूमा पीठाधीश्वर स्वामी अच्युतानंद तीर्थ के सानिध्य में किया। उन्होंने कहा कि अस्पताल में सुविधाओं के विस्तार से आमजन को सहूलियत होगी। उन्हें आपात स्थिति में दिल्ली और दूसरे स्थानों की दौड़ नहीं लगानी पड़ेगी।

दीप प्रज्वलित कर कार्यक्रम की शुरुआत करते हुए केरल के राज्यपाल ने भारतीय संस्कृति को सर्वश्रेष्ठ बताया। कहा कि भारत ज्ञान, प्रज्ञा का प्रोत्साहन, संवर्धन के लिए जाना जाता है। कहा कि राष्ट्र के गौरव को बढ़ाने के लिए वह सदैव तत्पर हैं। कहा कि कोरोना के चरम काल में अपनी जान की परवाह किए बगैर जिस प्रकार डाक्टर और पैरा मेडिकल स्टाफ ने मरीजों की सेवा कर कत्र्तव्य निभाया, इसके लिए वह बधाई के पात्र हैं। उन्होंने डाक्टर और पैरा मेडिकल स्टाफ को प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया। कोविड के दौरान सिडकुल की कुछ कंपनियों की ओर से अस्पताल को दिए सहयोग के लिए भी उन्होंने कंपनियों के प्रतिनिधियों को प्रशस्ति पत्र देकर उनका मान बढ़ाया।

अस्पताल के चिकित्सा अधीक्षक डा. आकाश जैन ने चिकित्सालय के विस्तार से आमजन को होने वाली सुविधाओं से अवगत कराया। इससे पूर्व नर्सिंग की छात्राओं ने गणेश वंदना पर प्रशंसा बटोरी। राष्ट्रगान के साथ कार्यक्रम का समापन हुआ। इस अवसर पर नगर विकास मंत्री उत्तर प्रदेश आशुतोष टंडन, प्रमुख सचिव उप्र नवनीत सहगल, मडामंडलेश्वर स्वामी ललितानंद गिरि महाराज, निर्मल आखाड़े के कोठारी जसङ्क्षवदर ङ्क्षसह शास्त्री, विहिप वाराणसी से सतीश मिश्रा, श्री स्वामी भूमानंद धर्मार्थ चिकित्सालय एंड रिसर्च इंस्टीट्यूट के सचिव सुभाष गुप्ता, अजय कुमार गर्ग, राधेश्याम अग्रवाल, विनोद कुमार, स्वामी भूमानंद नर्सिंग कालेज की प्रधानाचार्य प्रो. एस. एंग्यारकन्नी के अलावा अस्पताल के कर्मचारी मौजूद रहे।

यह भी पढ़ें- हरिद्वार दौरे पर केरल के राज्यपाल, बोले- धर्मनगरी से रहा है मेरा गहरा लगाव; भूमा और जूना पीठाधीश्वर से की भेंट

Edited By: Raksha Panthri