जागरण संवाददाता, हरिद्वार: केरल के राज्यपाल आरिफ मोहम्मद खान ने एक दिवसीय हरिद्वार दौरे के क्रम में भूमा पीठाधीश्वर स्वामी अच्युतानंद तीर्थ महाराज और जूना पीठाधीश्वर आचार्य महामंडलेश्वर स्वामी अवधेशानंद गिरि महाराज से मुलाकात की। इस दौरान उन्होंने कहा कि वो साधु-संतों का आशीर्वाद लेने हरिद्वार आए हैैं। मीडिया से बातचीत में उन्होंने बताया कि धर्मनगरी से उनका गहरा लगाव रहा है। वो समय-समय यहां आते रहे हैं।

राज्यपाल आरिफ मोहम्मद खान ने कहा कि हरिद्वार आने के लिए उन्होंने बहुत पहले कार्यक्रम बनाया था, लेकिन कोरोना के चलते नहीं आ सके। वहीं भूमा पीठाधीश्वर स्वामी अच्युतानंद तीर्थ महाराज ने कहा कि आरिफ मोहम्मद खान गंगा-जमुनी तहजीब की मिसाल हैं। इनके एक हाथ में कुरान शरीफ तो दूसरे हाथ में रामचरित मानस और गीता रहती है। इनका सर्वधर्म समभाव में गहरा विश्वास है। वह शुक्रवार को श्री भूमानंद अस्पताल के एक वार्ड का लोकार्पण भी करेंगे। वहीं राज्यपाल ने पूर्व दायित्वधारी विमल कुमार के विष्णु गार्डन स्थित आवास पर पहुंचकर करीब पौने घंटे उनसे वार्ता भी की। उन्होंने बताया कि वह उनके काफी समय से जुड़े रहे हैं।

पिरान कलियर में की चादरपोशी

कलियर: केरल के राज्यपाल ने गुरुवार शाम को दरगाह पिरान कलियर पहुंचकर चादरपोशी की। साथ ही दरगाह परिसर में भ्रमण किया। इस दौरान उन्होंने देश में अमन और खुशहाली के लिए दुआ भी मांगी। केरल के राज्यपाल आरिफ मोहम्मद खान हरिद्वार जिले के दो दिन के भ्रमण पर हैं। हरिद्वार से देर शाम वह दरगाह पिरान कलियर पहुंचे। यहां वो हज कमेटी के अध्यक्ष शमीम आलम के साथ दरगाह पहुंचे और चारदपोशी की। इस दौरान उन्होंने देश-दुनिया में अमन और उन्नति के लिए दुआ मांगी। इससे पूर्व भाजपा कार्यकत्र्ताओं ने उनका जोरदार स्वागत किया। उन्होंने कहा कि दरगाह साबिर पाक गंगा-जमुना तहजीब की अनूठी मिसाल है। उन्होंने कहा कि महापुरुषों के बताए रास्ते पर चलकर ही मानव जाति का कल्याण हो सकता है। इस दौरान प्रदेश कार्यकरणी सदस्य श्यामवीर सैनी, अजहर प्रधान, सूर्यकांत सैनी, दरगाह प्रबंधक शफीक अहमद आदि मौजूद रहे। इसके बाद राज्यपाल हज हाउस पहुंचे।

यह भी पढें- यात्रा मार्गों पर थके पैरों को मिलेगा आराम, वैष्णो देवी की ही तरह उत्तराखंड के 15 ट्रैकिंग रूट पर मिलेगी ये सुविधा

Edited By: Raksha Panthri