देहरादून, राज्य ब्यूरो। देहरादून से केदारनाथ के लिए अभी तक सीधी चार्टर्ड फ्लाइट को अनुमति नहीं मिल पाई है। देहरादून से केदारनाथ जाने वाली ये चार्टर्ड लाइट अभी केवल गुप्तकाशी व फाटा तक ही जा रही हैं। इसके बाद यात्री दूसरे हेलीकॉप्टर के जरिये केदारनाथ पहुंच रहे हैं। वहीं अब उत्तराखंड नागरिक उड्डयन प्राधिकरण ने महानिदेशक नागरिक उड्डयन कार्यालय भारत सरकार से केदारघाटी में छह के स्थान पर सात हवाई सेवाओं के संचालन की अनुमति मांगी है।

उत्तराखंड नागरिक उड्डयन प्राधिकरण (यूकाडा) ने केदारनाथ तक उड़ानों के संचालन के लिए कंपनियों का चयन करने के साथ ही किराये की दरें भी तय कर दी हैं। सिरसी के दो हेलीपैड को छोड़ शेष से हवाई सेवाएं शुरू हो चुकी हैं। सात कंपनियां इस समय गुप्तकाशी, फाटा और सिरसी से अपनी सेवाएं दे रही हैं। हालांकि, सिरसी से दो अन्य हवाई सेवाओं के लिए नए सिरे से टेंडर आमंत्रित कर लिए गए हैं।

अभी केदारघाटी में एक समय में छह हेलीकॉप्टर ही संचालित हो सकते हैं। यात्रियों के प्रवाह को देखते हुए एक हेलीकॉप्टर के और संचालन की जरूरत महसूस की जा रही है। इसके लिए यूकाडा की ओर से डीजीसीए को पत्र भेज दिया गया है। यूकाडा के सीइओ और सचिव नागरिक उड्डयन दिलीप जावलकर ने बताया कि केदारनाथ के लिए फिलहाल सीधी चार्टर्ड फ्लाइट नहीं हैं। फिलहाल सात हेली कंपनियां यहां सेवा दे रही हैं। डीजीसीए से केदारघाटी में एक समय में उड़ने वाले हेलीकॉप्टरों की संख्या बढ़ाने का अनुरोध किया गया है। 

यह भी पढ़ें: Chardham Yatra: केदारनाथ धाम के लिए हेलीकाप्टर सेवाएं शुरू, पहले दिन पांच सौ श्रद्धालु हेली सेवा से पहुंचे

यह भी पढ़ें: चारधाम यात्राः 554 स्थानों पर मंडरा रहा है सड़क दुर्घटना का खतरा

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप