Move to Jagran APP

Kathua Terror Attack: उत्‍तराखंड के पांच जांबाजों के बलिदान से दिलों में गुस्‍सा, हर आंख नम, दी जा रही अंतिम विदाई

Kathua Terror Attack कठुआ में आतंकी हमले में 22वीं गढ़वाल राइफल्स के पांच जवान बलिदान हुए हैं जबकि पांच जवान घायल हुए हैं। इस घटना से उत्‍तराखंड सहित पूरे भारत में गुस्‍सा है। मंगलवार को बलिदानियों के पार्थिव शरीर सेना के वाहन से उनके पैतृक आवास को ले जाए गए। जहां पर आज बुधवार को पूरे सैन्य सम्मान के साथ उन्हें अंतिम विदाई दी जाएगी।

By Jagran News Edited By: Nirmala Bohra Wed, 10 Jul 2024 02:42 PM (IST)
Kathua Terror Attack: उत्‍तराखंड के पांच जांबाजों के बलिदान से दिलों में गुस्‍सा, हर आंख नम, दी जा रही अंतिम विदाई
Kathua Terror Attack: आज बुधवार को पूरे सैन्य सम्मान के साथ दी जाएगी अंतिम विदाई

जागरण संवाददाता, देहरादून: Kathua Terror Attack: जम्मू-कश्मीर के कठुआ में गश्ती दल पर हुए आतंकी हमले में उत्तराखंड के पांच जांबाज बलिदान हो गए। इस घटना से उत्‍तराखंड सहित पूरे भारत में गुस्‍सा है। वहीं हर आंख नम है। कठुआ में आतंकी हमले में 22वीं गढ़वाल राइफल्स के पांच जवान बलिदान हुए हैं, जबकि पांच जवान घायल हुए हैं।

मंगलवार शाम पांचों बलिदानियों का पार्थिव शरीर सेना के विशेष विमान से जौलीग्रांट एयरपोर्ट पहुंचा। जहां मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी, हरिद्वार सांसद त्रिवेंद्र सिंह रावत, सैनिक कल्याण मंत्री गणेश जोशी, विधायक बृजभूषण गैरोला के अलावा सेना के वरिष्ठ अधिकारियों ने उन्हें श्रद्धांजलि दी।

यहां से बलिदानियों के पार्थिव शरीर सेना के वाहन से उनके पैतृक आवास को ले जाए गए। जहां पर आज बुधवार को पूरे सैन्य सम्मान के साथ उन्हें अंतिम विदाई दी जाएगी।

  • बलिदानी विनोद सिंह का पार्थिव शरीर उनके आवास देहरादून जिले के अठुरवाला में लाया गया। बलिदानी विनोद सिंह का अंतिम संस्कार बुधवार को पूर्णानंद घाट ऋषिकेश में किया गया।

  • बलिदानी कमल सिंह का पार्थिव शरीर कोटद्वार के रिखणीखाल प्रखंड के नौदानू गांव पहुंचा। इस दौरान लोग भारत माता की जय के नारे लगाते रहे।

'आदर्श तेरा ये बलिदान, याद रखेगा हिंदुस्तान' से गूंजा थाती डागर

कठुआ आतंकी हमले में बलिदान हुये राइफलमैन आदर्श नेगी के पार्थिव शरीर को लेकर सेना के जवान जब थाती डागर गांव पहुंचे तो चारों तरफ वीर सपूत आदर्श नेगी के नारें गूंज उठे। हजारों नम आंखों ने अपने लाडले आदर्श को आखिरी विदाई दी।

बुधवार की सुबह से ही हजारों की संख्या में कीर्तिनगर, श्रीनगर और आसपास के लोग बलिदानी राइफलमैन आदर्श नेगी के गांव थाती डागर पहुंच गये थे। पूरे कीर्तिनगर में शोक में बाजार बंद रहे। सेना के जवान पूरे राजकीय सम्मान के साथ जब आदर्श नेगी के पार्थिव शरीर को लेकर गांव पहुंचे तो गांव में हर कोई सन्न रह गया।

चारों तरफ से आदर्श नेगी अमर रहे के नारें गूंज उठे। जैसे ही आदर्श के घर पर उनका पार्थिव शरीर पहुंचा तो कोहराम मच गया। उनके स्वजन और ग्रामीणों के सब्र का बांध टूट गया। हर कोई आदर्श की मां और पिता को सांत्वना दे रहा था। उनके घर पर अंतिम दर्शनों के बाद राजकीय सम्मान के साथ कीर्तिनगर में उनके पैतृक घाट के लिए रवाना हो गए। जहां पूरे सैन्‍य सम्‍मान के साथ उनका अंतिम संस्‍कार किया गया। इस दौरान विधायक विनोद कंडारी, डीएम मयूर दीक्षित, एसएसपी नवनीत सिंह भुल्लर, जिलाध्यक्ष भाजपा राजेश नौटियाल आदि मौजूद रहे।

ये जवान हुए बलिदान

बलिदानी सैनिकों में नायब सुबेदार आनंद सिंह रावत रुद्रप्रयाग के कांडाखाल गांव निवासी थे। इसके अलावा हवलदार कमल सिंह पौड़ी जिले के लैंसडौन क्षेत्र के नोदानू गांव के निवासी थे। जबकि नायक विनोद सिंह भंडारी मूलरूप से टिहरी गढ़वाल के जाखणीधार क्षेत्र के अंतर्गत चौंड जसपुर गांव से थे। 26 वर्षीय राइफलमैन आदर्श नेगी भी टिहरी गढ़वाल के थाती डागर गांव के निवासी थे। पौड़ी गढ़वाल के रिखणीखाल क्षेत्र के डोबरिया गांव निवासी राइफलमैन अनुज नेगी भी इस आतंकी हमले में बलिदान हुए हैं।

आंतकी हमले की निंदा, बलिदानियों को दी श्रद्धांजलि

जम्मू-कश्मीर के कठुआ में आतंकी हमले में उत्तराखंड के पांच सपूत बलिदान होने से दून भी गमगीन है। दूनवासियों ने नम आंखों से बलिदानियों को श्रद्धांजलि देते हुए आतंकियों की कायराना हरकत की निंदा की। जम्मू-कश्मीर में सेना पर हो रहे आतंकी हमलों पर आक्रोश व्यक्त करते हुए दूनवासियों ने केंद्र सरकार से आतंकियों के सफाए की मांग की।

शहीद जसवंत सिंह रावत स्मारक क्लेमेनटाउन में क्षेत्रवासियों ने श्रद्धांजलि सभा का आयोजन किया। उन्होंने जम्मू-कश्मीर के कठुआ में हुए आतंकवादी हमले में बलिदान हुए उत्तराखंड के पांचों वीर सपूतों को श्रद्धांजलि अर्पित की। इस अवसर पर क्लेमेनटाउन रेजिडेंट वेलफेयर सोसायटी के सचिव महेश पांडे ने कहा कि पाकिस्तान समर्थित आतंकवादी अब जम्मू-कश्मीर में फिर से भय का वातावरण बना रहे हैं। छिपकर सेना पर हमले किए जा रहे हैं।

उत्तराखंड के पांचों बलिदानियों को देश हमेशा याद रखेगा। इस अवसर पर निवर्तमान पार्षद राजेश परमार, सुंदरलाल सेमवाल, पुष्कर सामंत, अभिषेक परमार, हर्ष कुमार भट्ट, कैप्टन आरपी भट्ट, जयपाल रावत, लक्ष्मण रावत, नवीन तिवारी, दिलीप प्रसाद, कैप्टन आलम सिंह भंडारी आदि उपस्थित रहे।

वीर परिवारों के साथ खड़ा है पूरा प्रदेश पिछड़ा वर्ग आयोग के पूर्व अध्यक्ष व भाजपा नेता अशोक वर्मा ने बलिदानियों को श्रद्धांजलि अर्पित की। उन्होंने कहा कि वीर परिवारों के साथ पूरा प्रदेश खड़ा है। उन्होंने आतंकियों के कायराना हमले की कड़ी निंदा करते हुए मुहंतोड़ जवाब दिए जाने की बात कही। साथ ही आतंकी हमले में घायल अन्य पांच जवानों के भी शीघ्र स्वस्थ होने की कामना की है।

बलिदानियों के आश्रितों को निश्शुल्क शिक्षा देगा ग्राफिक एरा

ग्राफिक एरा ने जम्मू-कश्मीर के कठुआ में आतंकी हमले में बलिदान हुए पांचों जांबाजों के आश्रितों की उच्च शिक्षा की जिम्मेदारी का निर्णय लिया है। ग्राफिक एरा ग्रुप आफ इंस्टीट्यूशंस के चेयरमैन डा. कमल घनशाला ने आतंकी हमले की कड़ी निंदा करते हुए संस्थान की ओर से पांचों जांबाजों को श्रद्धांजलि अर्पित की।

घनशाला ने कहा कि ग्राफिक एरा इन रणबांकुरों के आश्रितों को निश्शुल्क उच्च शिक्षा देगा। बलिदानियों के आश्रित भाई-बहन ग्राफिक एरा डीम्ड यूनिवर्सिटी और ग्राफिक एरा हिल यूनिवर्सिटी से इंजीनियरिंग, मैनेजमेंट समेत कोई भी कोर्स कर सकते हैं। कहा कि पूरा देश बलिदानियों के स्वजन के साथ खड़ा है। इन बलिदानियों के आश्रितों का जीवन संवारकर हम उनके कुछ सपनों को पूरा कर सकते हैं।