देहरादून, जेएनएन। उत्तराखंड में बारिश आफत बनकर बरस रही है। केदारनाथ हाईवे 40 घंटे और बदरीनाथ हाईवे पर 18 घंटे बाद आवागमन के लिए सुचारु हो गए। हालांकि पैदल यात्रा इस दरम्यान जारी रही। वहीं, तेज हवा चलने से कोटद्वार में एक घर की छत पर पेड़ गिर गया। गनीमत रही कि इस दौरान किसी को कोई नुकसान नहीं पहुंचा। राज्य मौसम केंद्र के अनुसार अगले चौबीस घंटों के दरम्यान स्थिति सामान्य रहने के आसार हैं। प्रदेश में सौ से ज्यादा संपर्क मार्ग बाधित हैं।

केदारनाथ जाने वाला गौरीकुंड हाईवे सोमवार शाम करीब पांच बजे बांसवाड़ा में अवरुद्ध हो गया था, जो यहां पर पहाड़ी से मलबा और पत्थर गिरने के कारण आवाजाही बंद हो रखी थी। यात्री बसुकेदार व बेडूबगड़ होते हुए गुप्तकाशी पहुंच रहे थे। उन्हें 25 किलोमीटर से अधिक दूरी तय करनी पड़ रही थी। बुधवार सुबह आठ बजे बांसवाड़ा में मलबा साफ कर आवाजाही शुरू करा दी गई। 

18 घंटे से लामबगड़ में बंद बदरीनाथ हाईवे पर भी यातायात सुचारु हो गया है। यह मार्ग विगत सुबह भूस्खलन की वजह से बाधित हो गया था। रुक रुककर मलबा गिरने के कारण हाइवे पर वाहनों की आवाजाही नहीं हो पा रही थी। सुबह मौसम साफ होने पर मलबा हटाने का काम शुरू हुआ, दोपहर 12 बजे हाइवे पर वाहनों की आवाजाही शुरू हो गई।  उधर, कुमाऊं मंडल में रात हुई मूसलाधार बारिश ने जनजीवन अस्त व्यस्त कर दिया। पिथौरागढ़ जिले के बेरीनाग तहसील के संगौड़ गांव में एक मकान ध्वस्त हो गया। परिवार ने दो दिन पूर्व ही मकान छोड़ दिया था। नेशनल हाइवे पर मटेला के निकट चट्टान टूटकर मलबा आ गिरने से आवागमन बाधित रहा। टनकपुर-पिथौरागढ़ राष्ट्रीय राजमार्ग दूसरे दिन भी बंद रहने से लोगों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। बागेश्वर जिले में भी पांच मकान ध्वस्त हो गए हैं। कपकोट तहसील के सरयू घाटी के 15 गांवों में सात दिन से बिजली गुल है। 

घर की छत पर गिरा पेड़ 

कोटद्वार बुधवार सुबह सनेह क्षेत्र के अंतर्गत विशनपुर में एक मकान की छत पर पेड़ गिर गया, जिससे मकान की दीवार क्षतिग्रस्त हो गई। गनीमत यह रही कि मकान धराशाई नहीं हुआ। दरअसल, बुधवार सुबह चली तेज हवाओं के दौरान विशनपुर निवासी चंदन सिंह के घर के सामने खड़ा पेड़ मकान की छत पर जा गिरा। इससे मकान की दीवार और बाउंड्रीवाल पूरी तरह क्षतिग्रस्त हो गई। पीड़ित ने प्रशासन से मुआवजे की मांग की है। 

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड में बारिश बरपा रही कहर, चमोली में बादल फटा; बागेश्वर में अतिवृष्टि से तीन पुल 

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड में भारी बारिश का दौर जारी, नदियां उफान पर; चौबीस घंटे का अलर्ट

यह भी पढ़ें: टिहरी में खाई में गिरी स्‍कूली वैन, चार बच्‍चों की मौत; 10 घायल

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Bhanu

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप