ऋषिकेश, जेएनएन। अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के महामंत्री व उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने कहा कि मोदी सरकार पंडित जवाहरलाल नेहरू और इंदिरा गांधी की यादों को मिटाने पर तुली है। हम किसी भी सूरत में टीएचडीसी को नहीं बिकने देंगे। उन्होंने कहा कि दिसंबर में उत्तराखंड के लोग टिहरी कूच करेंगे। उसके बाद विधानसभा सत्र का घेराव किया जाएगा। विधानसभा के माध्यम से टीएचडीसी को ना बेचने संबंधी प्रस्ताव पारित कराने के लिए भाजपा विधायकों के घर पर जागर लगाया जाएगा। 

टीएचडीसी ऋषिकेश के बाहर धरना स्थल पर कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि टीएचडीसी बचाओ आंदोलन की कमान कांग्रेस के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष किशोर उपाध्याय संभालेंगे। टिहरी कूच सहित आंदोलन की रणनीति जल्द तैयार की जाएगी। टिहरी के लोगों को नए संघर्ष के लिए तैयार होने की जरूरत है। हम किसी भी सूरत में टिहरी डैम को अडाणी डैम नहीं बनने देंगे। पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि जब हमारी सरकार थी, तो हमने बांध के पानी के बदले टैक्स के रूप में 700 करोड़ रुपये का प्रस्ताव पारित किया था। अगर यह परियोजना बिकती है तो उत्तराखंड को मिलने वाले लाभांश का क्या होगा। 

हरीश रावत ने कहा कि मोदी सरकार जहां कहीं भी अच्छा होता है तो वह अपने नाम पर दर्ज कर लेती है। जहां कहीं भी गलत होता है तो कांग्रेस पर ठीकरा फोड़ा जाता है। केंद्र सरकार टीएचडीसी ही नहीं बल्कि निपको, बीपीसीएल, ओएनजीसी को भी निजी हाथों में सौंपने की तैयारी कर रही है। टेलीकॉम सेक्टर भी निजी हाथों में दिया जा रहा है। उन्होंने आरोप लगाया कि ऊर्जा सेक्टर अंबानी और अडानी को देने की तैयारी है।

इन बड़े घरानों ने मोदी सरकार को बनाने का काम किया है। अब यह सरकार परियोजनाएं इन्हें सौंप कर कर्ज उतार रही हैं। उन्होंने कहा कि हमें टीएचडीसी और लोकतंत्र दोनों को बचाना है। केंद्र से भाजपा को हटाने के लिए हमें शहीद ही क्यों ना होना पड़े हमें इसकी भी तैयारी रखनी है।

यह भी पढ़ें: पूर्व सीएम हरीश रावत बोले, सहयोगियों को साथ रखने में नाकाम रही भाजपा

कार्यकर्ताओं को पूर्व प्रदेश अध्यक्ष किशोर उपाध्याय, जिला पंचायत हरिद्वार के कार्यकारी अध्यक्ष राव अफाक अली, पूर्व कबीना मंत्री शूरवीर सिंह सजवान, मातबर सिंह कंडारी, पूर्व विधायक विक्रम सिंह नेगी, भीम लाल आर्य, प्रदेश उपाध्यक्ष जोत सिंह बिष्ट, महामंत्री राजपाल खरोला, जयपाल जाटव, एआईसीसी सदस्य जयेंद्र रमोला, सतपाल ब्रह्मचारी, पूर्व ब्लाक प्रमुख रायपुर प्रभु लाल बहुगुणा, नरेंद्र नगर वीरेंद्र कंडारी, जगमोहन सिंह भंडारी, पौड़ी से सांसद प्रत्याशी रहे मनीष खंडूरी ने भी संबोधित किया। धरना देने वालों में ओपी चौहान, मथुरा दत्त जोशी, मनोज नौटियाल, भगवती प्रसाद सेमवाल, जय सिंह रावत, सूरज गुलाटी, मनोज गोसाई पूर्व प्रधान जयेंद्र सिंह रावत, दिनेश व्यास, विजय पाल सिंह रावत, विमला रावत, विनय सारस्वत, शिव मोहन मिश्रा, उमा ओबरॉय, मधु जोशी, सरोज देवराडी आदि शामिल थे।

यह भी पढ़ें: जेपी नड्डा के दौरे का कार्यक्रम जारी, बैठकों और बूथ सम्मेलन को करेंगे संबोधित

Posted By: Sunil Negi

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप